Breaking News

सिमुलतला आवासीय विद्यालय ने दिया बिहार टॉपर, टॉप 10 में 16 छात्र शामिल

सिमुलतला | गणेश कुमार सिंह】:-

टॉप टेन के 18 विद्यार्थी में 16 सिमुलतला आवासीय विद्यालय के हैं। इससे यह सिद्ध होता है कि इस विद्यालय को टॉपरों की फैक्टरी कहना उचित ही है। बिहार बोर्ड में कुल 16 लाख 60 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए थे। जिसका 80.73% अर्थात 13 लाख 20 हजार 36 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए।



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्‍ट है यह विद्यालय

जमुई सिमुलतला स्थित 2010 में स्थापित  सिमुलतला आवासीय स्‍कूल मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट के रुप में जाना जाता है। यहां पूरे प्रदेश के मेधावी छात्र-छात्राओं का चयन के उपरांत ही दाखिला मिलता है। और यहां आकर बिहार का हीरो बनने का अवसर।

मैट्रिक में शानदार रिजल्‍ट का ट्रैक रिकार्ड

पिछले रिकॉर्ड की बात करें तो 2015 की बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा से इस विद्यालय के छात्र-छात्राएं शामिल होते आ रहे हैं। वर्ष 2015 में मैट्रिक के टॉप 10 में शामिल 31 में 30 परीक्षार्थी इसी विद्यालय के थे। अगले साल 2016 में सिमुलतला आवासीय विद्यालय के 42 परीक्षार्थियों ने टॉप 10 में जगह बनाई थी। यह सिलसिला वर्ष 2017 में भी जारी रहा। वर्ष 2017 में इस विद्यालय के छात्र सूबे में सेकंड और थर्ड टॉपर रहे थे, जबकि 14 ने टॉप 10 में जगह बनाई थी।
फिर 2018 की परीक्षा में यहां की छात्रा प्रेरणा राज टॉपर बनीं थीं। साथ ही टॉप 10 में शामिल 23 छात्र-छात्राओं में 17इसी विद्यालय के ही थे। जबकि 2019 में इस विद्यालय ने बिहार को टॉप 10 में शामिल 18 छात्र छात्राओं में 16 टॉपर देकर सिमुलतला को राज्य नहीं बल्कि पूरे देश मे गौरवान्वित किया है। इसके बाद वर्ष 2019 की मैट्रिक परीक्षा में भी विद्यालय ने कृतिमान रचा है।



वर्ष 2019 में टॉप 10 में शामिल सि.आ.वि. के परीक्षार्थी

1. सावन राज भारती-  486 अंक
2. रॉनित राज-  483 अंक
3. प्रियांशु राज - 481 अंक
4. आदर्श रंजन- 480 अंक
4. आदित्य राज- 480 अंक
4. प्रवीण प्रखर- 480 अंक
5. रौशन कुमार-  479 अंक
5. हर्ष कुमार -    479 अंक
7. पीयूष कुमार-  477 अंक
7. अभिनव रंजन- 477 अंक
8. अमित कुमार – 476 अंक
9. अमन कुमार-  475 अंक
9. चंचल कुमार- 475 अंक
10. मोहम्मद शकील- 474 अंक
10. मोहम्मद शैफ - 474 अंक
10. रौशन कुमार -  474 अंक