Breaking News

बप्पा के जश्न में डूबा गिद्धौर, फिजाओं में घुले आस्था के रंग

[गिद्धौर | अभिषेक कुमार झा]

सनातन धर्म के पंच देवताओं में प्रमुख व प्रथम पूज्य विघ्नहर्ता भगवान गणेश की पूजा गिद्धौर में शंख की पवित्र ध्वनि, और मंत्रोच्चारण के बीच धूमधाम से हुई। गिद्धौर के बूढानाथ मंदिर परिसर में बीबीसी क्लब द्वारा भक्तों ने पंडाल लगाकर गणेश की मूर्ति स्थापित की। स्थानीय निवासी पंडित कृष्ण मुरारी झा की अगुवाई में उनकी पूजा-अर्चना कर सर्वमंगल का आशीष मांगा। पूजनोत्सव को लेकर पूजा पंडालों से रह-रहकर गणपति बप्पा के जयकारे के साथ साथ उनकी स्तुति में मंत्र गूंजते रहे।

आयोजक बीबीसी क्लब के सदस्य कन्हैया कुमार, मोनू कुमार, मनीष कुमार, सोनू कुमार, ऋतिक कुमार, अमित कुमार, रिशु कुमार, मंटु कुमार, नितीश कुमार, आदि ने बताया कि गिद्धौर के बाबा बूढानाथ  परिसर में कुछ वर्षों से विघ्नहर्ता भगवान गणेश की पूजा की जाती है। इसमें आसपास के गांव एवं स्थानीय ग्रामीण बड़ी ही उत्साह से हिस्सा लेते हैं। 

बता दें बीबीसी क्लब गिद्धौर के तत्वावधान में हो रहे इस गणेश महोत्सव का शुभारंभ शनिवार की देर संध्या 8:30 बजे हुआ। लगातार बप्पा के जयकारे व शंख की ध्वनि से गिद्धौर के फिजाओं में आस्था के रंग बिखर पड़े और गिद्धौर भक्ति के रंग में रंग गया।

 वहीं शुक्रवार की सुबह पूजा पांडाल में पूजा-अर्चना के लिए आस्थावान श्रद्धालु कतार बुद्ध नजर आए। गिद्धौर के प्रसिद्ध कलाकार रणबीर आर्ट द्वारा भव्य एवं आकर्षक मूर्ति का निर्माण किया गया। पूजा पंडाल की खूबसूरती बढ़ाने के लिए अच्छे ढंग से रंगबिरंगे बिजली की लड़िया, झूमर, रोलेक्स, बिजली बोर्ड एवं फूलों से बूढानाथ मंदिर एवं आसपास के स्थानों को दुल्हन की तरह सजाया गया।

गिद्धौर बूढानाथ मंदिर परिसर के अलावे, सेवा, महुली, कोल्हुआ आदि जगहों पर भी गणपति बप्पा के जयकारे सुने गये। सूचना है कि प्रतिमा का विसर्जन रविवार को नियम-निष्ठा के साथ किया जाएगा।

पंडित कृष्ण मुरारी झा के अनुसार, विघ्न विनाशक की कृपा प्राप्ति के लिए सविधि भगवान गणेश के निमित्त स्नान-दान-उपवास और पूजन, अर्चन-वंदन जो भी किया जाता है, वह गणपति कृपा से सहस्त्रगुणा हो जाता है। इससे जीवन के सभी तरह के विघ्न दूर हो जाते हैं।