Breaking News

नोटबन्दी के लिये पीएम एवं सीएम जनता से माँगें माफी : आप, बिहार

Gidhaur.com (पटना) : नोटबन्दी से कालाधन बाहर आयेगा और देश को बहुत बड़ा आर्थिक लाभ होगा, इसी भरोसे में गरीब किसान-मजदूर सहित आम जनता ने नोटबन्दी के समय खुशी-खुशी परेशानियां झेलीं। सैकड़ों जानें गई। पर यह सब व्यर्थ हो गया और नोटबन्दी से देश को लाभ की जगह घाटा हुआ। आम आदमी पार्टी, बिहार द्वारा गुरुवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर यह माँग किया गया कि जिस तरह प्रधानमंत्री ने 8 नवम्बर को टेलीविजन पर आकर नोटबन्दी की घोषणा की थी, उसी प्रकार वे टेलीविजन पर आकर नोटबन्दी के फेल होने और इससे देश को घाटा पहुँचने की घोषणा करें, और नोटबन्दी के गलत निर्णय पर देशवासियों से माफी माँगें।
आम आदमी पार्टी ने राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी नोटबन्दी को समर्थन देने के लिये राज्यवासियों से माफी माँगने के लिए कहा है। विदित हो कि नोटबन्दी से पहले 1000 और 500 के 15 लाख 44 हजार करोड़ रूपये के नोट चलन में थे, जिसमें से कुल 15 लाख 28 हजार करोड़ रूपये के नोट वापस आ गये. मात्र 16 हजार 50 करोड़ रूपये के नोट ही वापस नहीं आये जो कुल रकम का एक प्रतिशत है, जबकि नोटबन्दी को लागू करने में 21 हजार करोड़ रूपये का खर्च आया।


(अनूप नारायण)
पटना | 31/08/2017, गुरुवार