Breaking News

गिद्धौर : महीने भर भी नहीं टीक सकी स्टेशन - थड़घटिया बायपास सड़क


गिद्धौर | न्यूज़ डेस्क 】 :-

एक ओर जहाँ सरकार सड़कों के निर्माण पर करोड़ों रूपए व्यय कर रही है, प्रधानमंत्री योजनान्तर्गत सड़कों का पक्कीकरण कार्य तेजी से चल रहा है वहीं दूसरी ओर सरकार द्वारा ग्रामीण इलाके में सड़क निर्माण की बात अब लोगों को छलावा लगने लगा है।
हम बात कर रहे हैं सेवा पंचायत से ठड़घटिया, रामाकुराब, गेनाडीह गाँव को जोड़ने वाली सड़क की, जिसकी हालत निर्माण कार्य के चंद दिनों बाद बदतर हो चुकी है।


बताते चले कि उक्त सड़क निर्माण कार्य में लगे संवेदक द्वारा घटिया मेटल का प्रयोग कर जैसे तैसे सड़क निमार्ण का कार्य कर सड़क निमार्ण से जुड़ी विकास की राशि का बंदर बांट कर लिया गया।सड़क जीर्णेद्वार का कार्य ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रमण्डल झाझा के पदाधिकारियों द्वारा बिना किसी देख रेख के ही संवेदक द्वारा धडल्ले से लीपा पोती कर निर्माण करवा दिया गया जो अब जगह- जगह से सड़क टुट कर बिखर गई।


सड़क के आरंभिक स्थान पर लगे बोर्ड की माने तो प्रधानमंत्री योजनान्तर्गत बनी 2.6 किमी लंबी यह सड़क ठड़घटिया, रामाकुराब को सेवा भाया गिद्धौर स्टेशन से जोड़ती है. जिसका निर्माण कार्य 29/05/2018 को आरंभ हुआ और 28/05/2019 को निर्माण कार्य पूर्ण हो गया। ये सड़क निर्माण कार्य ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रमंडल, झाझा के द्वारा निष्पादित हुई जिसमें संवेदक के तौर पर सुमेश कुमार ने अपना योगदान दिया।

-- कहते हैं इलाके के ग्रामीण ---

गेनाडीह,रामाकुराव,कुराव,थडघटिया, सेवा, कुडिला गाँव के दर्जनों ग्रामीण मुकेश साव,रतन यादव, गजानंद यादव, नारायण यादव, कपिलदेव यादव, धर्मेन्द्र यादव, प्रदीप यादव, महेश यादव, आदि ने कहा कि आजादी के बाद इस गांव में सड़क निर्माण को लेकर सभी ग्रामीण खुशी से झूम उठा और बोला कि अब हमलोग को कीचड़ से होकर प्रखंड मुख्यालय नही जाना पड़ेगा। लेकिन क्या पता था कि सड़क निर्माण के बाद महीने में टूट के बिखर जाएगा। सड़क निर्माण के शुरुआत में ही हमलोग विभागीय पदाधिकारी व संवेदक के खिलाफ हम सभी ग्रामीण ने सड़क के घटिया निर्माण कार्य के वक्त भी विरोध किया था। बाबजूद इसके संवेदक द्वारा तमाम पदाधिकारी से सांठ गांठ से इस इलाके के महत्वपूर्ण सड़क का घटिया निर्माण करवा दिया। जिससे कि यह सड़क का मेटल टुटकर बिखर गया।



---- कहते हैं प्रखंड प्रमुख  ----

इस बाबत पूछे जाने पर प्रखंड प्रमुख शम्भू केशरी कहते हैं कि ग्रामीणों के द्वारा लिखित  शिकायत नहीं मिली है। अगर ग्रामीणों से जानकारी मिलेगी तो जिले के वरीय पदाधिकारी से उक्त सड़क से  अवगत करा कर  इसकी जाँच कराने का अनुरोध किया जाएगा।

रिपोर्ट :-【 धनन्जय कुमार 'आमोद' 】