Breaking News

धोरैया पहुँची NDRF की टीम, छात्रों को दिया आपदा से बचाव का प्रशिक्षण

{धोरैया (बांका)| अरुण कुमार गुप्ता} :-

प्रखंड मुख्यालय के सामने स्थित इंटर स्तरीय उच्च विद्यालय धोरैया में मंगलवार को पटना से आई एनडीआरएफ टीम के सदस्यों द्वारा छात्रो को प्रशिक्षण दिया गया। टीम के इंस्पेक्टर पंकज कनोजिया,एएसआई रामबली सिंह, मुख्य आरक्षी अरबिन्द तिग्गा, कांस्टेबल निर्भय सिंह, पीयूष कुमार ने बाढ़, सर्प दंश,भूकम्प,अग्नि,हार्ड अटैक आदि आपदा को लेकर विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए बच्चों को मॉक ड्रील कराया। उन्होंने बताया कि विशव में 2500 प्रजाति एव हमारे देश में 271 प्रजाति के सर्प पाये जाते है। जिनमें 50 प्रजातियां ही जहरीला होती है। लेकिन अक्सर लोग सांप का नाम सुनकर ही डर जाते हैं वहीं विषहीन सर्प के दंश की घबराहट से ही मर जाते है। सर्प को लेकर उन्होंने बताया की देश में सबसे जहरीला सांप सिर्फ छः है जिसमें कोबरा,क्रेट,रसेल वाइपर,करैत, साॅ-स्केल्ड वाइपर एवं किंग कोबरा है। उन्होंने बताया कि सर्प दंश होने पर उस स्थान को साबुन पानी के घोल से अच्छी तरह धोकर उस स्थान से खून को तबतक निकाले जब तक काला खून निकलना बंद नही हो जाय, उसके बाद उसे चिकित्सा के लिए डॉक्टर के पास ले जाए ।

वहीं उन्होंने कहा कि दुर्घटना में अगर कोई व्यक्ति जख्मी हो जाय एवं शरीर के किसी अंग से खून बह रहा हो तो सबसे पहले खून के बहाव को रोकते हुए उसे चिकित्सक के पास ले जाए। 

वहीं ह्रदय गति रुकने पर 6 मिनट बाद व्यक्ति की मौत हो जाती है। यदि इस दौरान सीने के ऊपर बार बार दवाव दिया जाय तो उसे बचाया जा सकता है। वहीं जीवित व्यक्ति को सीपीआर नही देना चाहिए। वहीं भूकम्प को लेकर उन्होंने बताया की जब भी भूकंप का अनुभव हो तो व्यक्ति को दीवार के कोने में चिपकते हुए अपने सर को बचाना चाहिए।इसके बाद खुले मैदान में निकल जाइये। बिजली के खम्भे पेड़ के पास कभी खड़ा नहीं रहना चाहिए।
इस मौके पर उपस्थित अंचलाधिकारी बीरेन्द्र कुमार ने भी बच्चो को आपदा से बचाव को लेकर पाठ पढ़ाया। प्रशिक्षण में विद्यालय प्रधान मो. यूनुस आलम,सुदर्शन मिश्रा,मुखिया मो जहांगीर,शिवनारायण कापरी,उपप्रमुख प्रतिनिधि संजीव कुमार सिंह,पंसस गौतम सिंह ,राजस्व कर्मचारी सुबोध कुमार झा,अजित प्रसाद सिंह, आदि उपस्थित थे।