Breaking News

बेगुसराय : नाटक 'बेटियां' में दिखा, समाज में बेटियों का दर्द


बेगूसराय (अनूप नारायण)
: ईश्वर-अल्लाह का सबसे बड़ा उपहार है बेटी, प्रकृति का प्यार है बेटी। सृष्टि का श्रृंगार है बेटी। धर्म- मजहब की अमानत गीता और कुरान है, परंतु ना हिन्दू और न ही मुसलमान है बेटी। गंगाजल की तरह पुण्य और प्रताप देने वाली होती हैं बेटियां फिर भी लोग क्यों डरते हैं बेटियों को पैदा करने से। जब यह संदेशात्मक संवाद दिनकर भवन के मंच से कलाकार वंशी श्रुति के द्वारा बोला गया तो पूरा हॉल तालियों से गूँज उठा। मौका था आकाश गंगा रंग चौपाल एसोसिएशन के द्वारा आयोजित एवं संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा प्रायोजित गणेश गौरव द्वारा लिखित एवं चाँदनी कुमारी द्वारा निर्देशित नाटक बेटियां का मंचन का। नाटक में दिखाया गया है कि एक भोली भाली मासूम बच्ची के साथ सामुहिक बलात्कार कर सड़क पर फेंक दिया जाता है। फिर किस तरह से समाज के ठेकेदारों द्वारा इसे जातीय हिंसा का रूप देने की कोशिश की जाती है। पागल बाबा के रोल में अमर के द्वारा बोला गया संवाद कि लगातर आग बस्ती में  रहनुमा लगाते हो, सिर्फ अपने स्वार्थ के खातिर भाई को भाई से लड़ाते हो ने प्रेक्षागृह में बैठे दर्शकों के मन को झकझोर दिया।  रोज व रोज लड़कियों व महिलाओं के साथ बढ़ती बलात्कार एवं हिंसात्मक घटनाएं मानवता पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रही है। यत्र नार्यस्तु पूज्यंते, तत्र रमंते देवता वाली उक्ति वर्तमान समय में देश के अंदर झूठा साबित हो रहा है। अगर लड़कियों पर इसी तरह अत्याचार बढ़ता गया तो यह खूबसूरत दुनियांं समाप्त हो जाएगी। नाटक के माध्यम से नाटक के रचनाकार गणेश गौरव ने दर्शकों को संमोहित कर सोचने को मजबूर कर दिया। वहीं संगीत परिकल्पना के साथ स्वयं अपनी दर्द भरी आवाज से दर्शक के अंतरमन तक पहुंचने में सफल रहे। दर्शकों ने नाट्य निर्देशिका चांदनी कुमारी की भी प्रशंसा की। नाटक में निर्देशिका चांदनी के अलावा,अरुण शांडिल््य, देव आनंद, अमर, हीरा, हरि किशोर, अंकुर, मिथिलेश, क्रांति, सिकंदर, श्रुति, शिवांशी, मोनिका, अमन, शिवकांत, नंदन, सूरज, कुंदन, विकास, शिवम आदि ने अपने अभिनय से दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। प्रस्तुति व्यवस्थापक एवं संयोजन भूमिपाल रॉय एवं विशेष सहयोग रजनीकांत पाठक का था।
कार्यक्रम का उद्घाटन पुलिस महानिदेशक बीएमपी बिहार गुप्तेश्वर पांड्ये, महापौर उपेंद्र प्रसाद सिंह, डॉ सपना चौधरी प्राचार्य महिला कॉलेज, भगवान प्रसाद सिंह, रजनीकांत पाठक, अनिल पतंग, राजीव कुमार उप मेयर आदि ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।