Breaking News

अलीगंज : प्रसूता से नर्स ने मांगे ₹500, नहीं देने पर रख लिया पुर्जा


अलीगंज (चंद्रशेखर सिंह) : प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अलीगंज में प्रसव कराने आई महिला से नर्स द्वारा पैसे लेने की चर्चा जोरों पर है। बिना पैसे के यहां एएनएम नही कराती हैं प्रसव। ऐसा कहना प्रसव कराने आई महिला एवं उसके परिजनों का है।

बता दें कि बीते शुक्रवार की सुबह लगभग सात बजे प्रखंड के हैदरा गांव कौशल पासवान की गतभवती पत्नी छोटी देवी, जिसकी अस्पताल इट्री संख्या 1420 है अपनी माता पूनम देवी के साथ अलीगंज पीएचसी आई। अस्पताल में ड्यूटी पर मौजूद नर्स विद्या देवी ने उसे अस्पताल में सुरक्षित प्रसव कराया।


महिला की माता पूनम ने बताया कि नर्स द्वारा मुझसे पांच सौ रूपये की मांग की गई। काफी हाल-हुज्जत के बाद प्रसव कराने आई महिला की माता नर्स को दो सौ रूपये देने के लिए राजी हुई और देने लगी तो एएनएम विद्या देवी ने पैसे फेक दिए और मरीज का पुर्जा अपने पास रख लिया। जिसके बाद प्रसूता अपने घर चली गई।

शनिवार की सुबह महिला की माता पूनम देवी व जदयू के प्रखंड अध्यक्ष शीतल मेहता द्वारा अस्पताल में काफी हंगामा करने पर एएनएम ने आशा के मार्फत मरीज का पुर्जा वापस लौटा दिया।

अब आप सहज अंदाजा लगा सकते हैं डॉक्टर द्वारा मरीज को देखने के तुरंत बाद पुर्जा दिया जाता है लेकिन पैसे की लालच में नर्स ने परिजन के हंगामा करने के बाद व जदयू प्रखंड अध्यक्ष के कहे जाने के बाद पुर्जा वापस दिया गया। इस बाबत लोगों ने बताया कि प्रसव कराने आई महिलाओं से जबरन व मनमाने पैसे की माँगे जाने की बात नई नहीं है, ऐसा बहुत दिन से किया जाता है। नही देने पर चिकित्सक व नर्स देखते तक नहीं है।


आशा कार्यकर्ता बबिता देवी ने बताया कि मेरे ही क्षेत्र की महिला प्रसव कराने आई और प्रसव के बाद परिजन दो सौ रूपया दे रही थी लेकिन पांच सौ रूपया मांग रही थी। नही देने पर मरीज का पुर्जा ले लिया गया और सुबह हंगामा होने पर नर्स विद्या देवी हमें पुर्जा मरीज को देने के लिए दी। इस बारे में पूछे जाने पर एएनएम विद्या देवी ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। सिविल सर्जन श्याम मोहन दास ने बताया कि पैसे लेने वाली एएनएम पर कारवाई करने का आदेश प्रभारी को दिया गया है।

बता दें कि प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व स्वास्थ्य प्रबंधक की मिलीभगत से अस्पताल में प्रसव कराने आई महिलाओं व एम्बुलेंस से भी मरीजों को लाने और ले जाने में मनमानी किराया व पैसे की वसुली किये जाने की चर्चा चहुओर है। जबकि एमबुलेंस से प्रसव कराने आने वाली महिलाओं से पैसे नही लेने का नियम है। सरकार ने प्रसूताओं को मुफ्त सेवा दे रखी है।