Breaking News

अलीगंज : राष्ट्रीय पारा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक हासिल कर शैलेष ने किया जिले का नाम रौशन

[gidhaur.com अलीगंज (जमुई)] :- प्रतिभा किसी की मुहताज नही होती है।जिसमें जितनी काबिलयत होती है वह अवश्य ही दिख जाता है।ठीक उसी तरह जमुई जिले के पिछड़ा प्रखंड के इस्लामनगर गांव के निवासी शिवनंदन यादव का दिवयांग पुत्र शैलेश कुमार ने राष्ट्रीय पारा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप 2018 में उंची कूद में स्वणॅ पदक हासिल कर प्रखंड ही नही जिले का नाम रौशन किया है।राष्ट्रीय पारा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप 2018 का आयोजन पंचकुला हरियाणा में आयोजन किया गया था जिसमें शैलेश ने 5'6इंच उंची कूद में सफलता पाकर स्वणॅ पदक विजेता बना।
पूर्व  2017 मे भी शैलेष के द्वारा नेशनल पारा एथलेटिक्स चैम्पियन  में हाई जंप में कास्य पदक जीता गया था।
अपने उपलब्धि पर शैलेश ने बताया कि मेहनत से किया गया कोई भी कार्य को आसानी से जीता जा सकता है। शैलेष ने बिहार बोर्ड की +2 जनता हाईस्कूल अलीगंज से वर्ष 2017 में किया और अभी इसी हाईस्कूल से इंटर में अध्ययनरत् है। शैलेष ने अपने विद्यालय  प्रधान नागेशवर प्रसाद के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि सर मुझे दिव्यांग होते हुए भी काफी मदद कर आगे बढ़ने के लिए लगातार गाईड करते रहे और आज उन्ही के आशीर्वाद से राष्ट्रीय पारा चैम्पियनशिप में स्वणॅ पदक विजेता बनकर इलाके के साथ विद्यालय के भी नाम को रौशन किया है। विद्यालय के एच एम नागेशवर प्रसाद ने बताया कि लगन व मेहनत से सब कुछ पाया जा सकता सिर्फ इरादा पक्का होना चाहिए। एक दिव्यांग छात्र ने राष्ट्रीय स्तर पर स्वर्ण पदक जीतकर यह साबित कर दिखाया है कि सच्ची मेहनत व लगन से सब कुछ हासिल किया जा सकता है। शैलेश ने मेहनत के बदौलत अंतरराष्ट्रीय पारा चैम्पियनशिप में अपनी जगह बनाई है।शैलेश के राष्ट्रीय पारा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वणॅ पदक विजेता बनने पर प्रखंड ही नही बल्कि जमुई जिलेवासी भी अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।
(चन्द्रशेखर सिंह)
अलीगंज | 03/04/2018
www.gidhaur.com