Breaking News

समाज की सामूहिक जिम्मेवारी है बेटियां : सुमित

Gidhaur.com (सोनो) : बेटियां साझी होती है। समाज की होती है। हम सबों के यहां यही परम्परा सदियों से चल रही है। बेटियों में कभी बिरादरी अथवा, गरीब-अमीर का भेद नहीं किया जाता था। बेटियों की सुरक्षा और उनके विवाह को सामूहिक जिम्मेवारी समझा जाता था। तब बेटियों की शिक्षा को उतना महत्व नहीं दिया जाता था। लेकिन मैं सुरक्षा, शिक्षा और शुभ विवाह अथवा, निकाह को समस्त समाज की जिम्मेदारी समझता हूं।

इसी सोच के तहत कन्याओं के विवाहोत्सव में सदैव शामिल होता हूं। उक्त बातें चकाई के पूर्व विधायक व जदयू के युवा नेता सुमित कुमार सिंह ने सोनो के कोराडीह (बेलाटांड) गांव में मोहम्मद शमशुल जी की बेटी के निकाह समारोह में शामिल होने के दौरान कही। साथ ही नवविवाहित जोड़े को सुखद, सफल सामाजिक-पारिवारिक दायित्वपूर्ण दाम्पत्य जीवन की शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर बड़ी तादाद में लोग मौजूद थे।

चन्द्रदेव बरनवाल
सोनो      |     31/03/2018, शनिवार