Breaking News

भागलपुर : हॉस्टल में रसोइए ने की लड़की से रेप की कोशिश, साथियों का हंगामा

Gidhaur.com (भागलपुर) : मनाली चौक के पास पूर्व मेयर डॉ. वीणा यादव के ज्ञानदीप हाईटेक गर्ल्स हॉस्टल में हॉस्टल के ही एक रसोइए ने बीए पार्ट-1 की एक लड़की से रेप की कोशिश की। लड़कियों ने उसे पकड़ने की कोशिश की तो रसोइया पूर्व मेयर के कमरे में भाग गया। इसके बाद वह हॉस्टल से फरार हो गया। हॉस्टल संचालिका व पूर्व मेयर डॉ. यादव की मौजूदगी में रसाेइए के भागने के बाद हॉस्टल में रह रही करीब 120 लड़कियां आक्रोशित हो गईं। सभी ने मोर्चा खोल लिया।
पूर्व मेयर ने कहा- चाय का पैसा था बाकी
हॉस्टल में रह रही छात्राओं ने पहले हॉस्टल में फिर सड़क पर जमकर हंगामा किया। छात्राओं का आक्रोश देख वीणा यादव ने भी भागने की कोशिश की, लेकिन छात्राओं ने उन्हें पकड़ लिया और घंटे भर बंधक बनाए रखा।लड़कियों ने हॉस्टल संचालिका पर रसोइए को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। करीब 7 घंटे के हंगामे के बाद बरारी थाने में पीड़िता और उसकी मां ने पूर्व मेयर वीणा यादव और रसोइया संजय के खिलाफ FIR दर्ज करवाई। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। पूर्व मेयर के हॉस्टल में दोपहर करीब 3 बजे रसोइया संजय चाय देने आया। हॉस्टल के कमरा नंबर 12 में आते ही उसने दरवाजा बंद कर दिया। उसने गोड्डा की छात्रा के साथ गलत हरकत की। छात्रा ने विरोध किया और शोर मचाया। शोर सुनकर रसोइया संजय भाग गया। इसी बीच रसोइया संजय को पकड़ने छात्राएं दौड़ीं तो वह भागकर पूर्व मेयर के कमरे में घुस गया। इसके बाद वह हॉस्टल से गायब हो गया। कई छात्राओं की परीक्षा चल रही थी, इसलिए वे हॉस्टल से बाहर थीं। शाम 4 बजे जब छात्राएं लौटीं तो पीड़ित छात्रा ने उन्हें पूरी कहानी सुनाई। इसके बाद हॉस्टल में हंगामा खड़ा हो गया। पीड़िता के माता-पिता सूचना पाकर गाेड्डा से रात 8 बजे जैसे ही पहुंचे, सभी छात्राओं ने मोर्चा खोल लिया। 
लड़कियों की बजाय पूर्व मेयर रसाेइए के पक्ष में उतरीं, बढ़ा बवाल
छात्राओं ने बताया, कि जब रसोइए को पकड़ने पूर्व मेयर के कमरे में घुसीं तो उन्हाेंने धमकी दे दी। पूर्व मेयर ने कहा, सोशल मीडिया पर तुमलोगों का वीडियो दे दूंगी। उन्होंने कई बार मामले को दबाने के लिए छात्राओं पर दबाव बनाया। लेकिन अभिभावकों की मौजूदगी में उनका दबाव काम नहीं आया। छात्राओं ने डाॅ. वीणा यादव पर रसोइए को भगाने का आरोप लगाया। उनका आक्रोश इस कदर बढ़ा कि सभी सड़क पर उतर आईं। रात 8 बजे एनएच-80 जाम कर दिया। नारेबाजी शुरू कर दी। इधर, मामला बढ़ते देख डॉ. वीणा भी भागने लगीं, छात्राओं ने उन्हें पकड़ा और खींचकर हॉस्टल के अंदर ले गईं। उसे बंधक बना लिया। करीब एक घंटे बाद मौके पर पहुंची बरारी, आदमपुर, कोतवाली और महिला थाने की पुलिस के साथ पुलिस लाइन से भारी बल की तैनाती कर दी गई। रात करीब 10 बजे महिला थानाध्यक्ष स्वयंप्रभा पहुंची और छात्राओं से पूरा मामला समझा। सभी ने थाने में कहानी बताई तो रात 11 बजे बरारी थाने में हॉस्टल संचालिका डॉ. वीणा यादव और रसोइए संजय के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।

(अनूप नारायण)
Gidhaur.com     |     10/09/2017, रविवार