Breaking News

पटना : IGIMS के फिजियोथेरेपी विभाग में हुआ सेमिनार का आयोजन

 पटना | अनूप नारायण :
शनिवार को इंदिरा गाँधी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के फिजियोथेरेपी विभाग और इंडियन फिजियोथेरेपी क्लब के संयुक्त तत्वाधान में "दर्द के उपचार में फोनोफोरेसिस " विषय पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया।सेमिनार का उद्धघाटन संस्थान के निदेशक डॉ आर एन विश्वास, डीन डॉ  एस के शाही, ऑर्थोपेडिक विभाग के हेड डॉ संतोष कुमार तथा डीन (परीक्षा) डॉ राघवेंद्र ने किया।

इस अवसर पर फोनोफोरेसिस द्वारा  फ्रैक्चर के बाद हड्डी के जोड़ने, सिनोसिटिस, स्कार सहित मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द आदि में फोनोफोरेसिस पर वैज्ञानिक व्याख्यान दिए गए।

डेंटल विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ संजय कुमार ने ट्राइजेमिनल न्यूरैलजिया पर अपना व्याख्यान दिया।मेडिसिन विभाग के एडिशनल प्रोफेसर डॉ सुधीर कुमार ने बताया कि  फोनोफोरेसिस से दवा देने से गैस्ट्राइटिस, किडनी फेल आदि की संभावना काफी कम हो जाती क्योंकि इस विधि से दवा वहीं दी जाती है जहाँ बीमारी होती है।

फिजियोथेरेपी विभाग के डॉ अविनाश, डॉ रूनझुन अग्रवाल, डॉ विनय पांडे ने भी व्यख्यान दिया। फिजियोथेरेपी विभाग के वरीय फ़िज़ियोथेरेपिस्ट और इंडियन फिजियोथेरेपी क्लब के संस्थापक डॉ रत्नेश चौधरी ने कार्यक्रम का संचालन किया।

इस अवसर पर पूरे बिहार से बड़ी संख्या में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट, पेन एक्सपर्ट और डॉक्टर उपस्थित थे।