Breaking News

गिद्धौर : CSC द्वारा वित्तीय समावेशन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित, डिजिटल सेवा की दी जानकारी

जमुई जिले का पहला डिजिटल गांव बनेगा पतसंडा, ईडीएम ने की घोषणा...



न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :-

भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के पहल पर गिद्धौऱ के पतसंडा पंचायत में सीएससी द्वारा वित्तीय समावेशन जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
मौके पर सीएससी की उपलब्धि एवं इसके अंतर्गत दी जाने वाली तमाम सरकारी सेवाओं से सैंकड़ों ग्रामीणों को अवगत कराया गया।


रविवार को हुए इस कार्यक्रम का संचालन करते हुए सीएससी के ईडीएम सत्यानन्द कुमार ने कहा कि पतसंडा को जमुई जिले का पहला डिजिटल गांव होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। सीएससी के द्वारा दी जाने वाली तमाम सरकारी सुविधाओं से पतसंडा पंचायतवासी लाभान्वित हो सकेंगे।
जन-जन तक डिजिटल सुविधाओं को पहुँचाने के उद्देश्य से किये गए इस कार्यक्रम में ईडीएम सत्यानन्द कुमार ने  ग्रामीणों को डिजिटल ग्राम बनने पर इसके लाभ तथा उपयोगिता के बारे में बताया।  उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद सैंकड़ो ग्रामीणों को अपने-अपने घर का बजट बनाने, बचत करने, बचत का आवश्यक कार्य में निवेश करने, बचत के लिए बैंकों में खाता खुलवाने, कैश लेस को बढ़ावा देने जैसे डिजिटल सेवा की जानकारी दी। इसके बाद ग्रामीणों के बीच सीएससी की पत्रिका का भी वितरण किया गया।


वहीं वसुधा केंद्र गिद्धौर के वीएलई दिलीप कुमार दास ने बताया कि सीएससी द्वारा पतसंडा पंचायत के 600 परिवारों को मुफ़्त चिकित्सीय सलाह दी जाएगी। इन सेवाओं में डायग्नोसिस, टेलेपरामर्ष, आदि शामिल हैं जिसका लाभ केवल 50 रुपये के नामांकन शुल्क के साथ लिया जा सकता है।  इस दौरान उन्होंने प्रोजेक्टर से ग्रामीणों को सरकार की योजनाओं की जानकारी दी।


कार्यक्रम को केंद्र संचालक फूल झा, सरपंच रीना देवी, एवं ईडीएम रविन्द्र कुमार ने भी संबोधित किया। वहीं कार्यक्रम में  सीएससी के वीएलई धीरजनाथ दीनबंधु, राहुल कुमार रावत, शिवम भारती की उपस्थिति विशेष रही। कार्यक्रम के अंत मे वीएलई दिलीप कुमार दास ने धन्यवाद ज्ञापन किया।


सीएससी के इस कार्यक्रम से लाभान्वित हुए स्थानीय ग्रामीण नागो मंडल, विकास कुमार रंजन, पूर्व प्रमुख श्रवण यादव, मनकवा देवी,  नरोत्तम कुमार मंडल, अजीत कुमार ठाकुर, वशिष्ठ कुमार, सन्नी कुमार, बिट्टु कुमार राम, अवध किशोर तांती, रंजू देवी, पुष्पांजलि कुमारी सहित सैकड़ों ग्रामीणों व बुद्धिजीवियों ने उक्त कार्यक्रम की भूरी भूरी प्रसंशा की।