Breaking News

गिद्धौर : शारदीय नवरात्र की तैयारियां जारी, नौका पर हो रहा है माँ का आगमन

जगतजननी माँ दुर्गा की विशेष आराधना का महापर्व शारदीय नवरात्र बुधवार 10 अक्टूबर को कलश स्थापना के साथ शुरू हो रहा है। इस वर्ष माँ शेरावाली का...

धर्म एवं आध्यात्म (सुशांत सिन्हा) : जगतजननी माँ दुर्गा की विशेष आराधना का महापर्व शारदीय नवरात्र बुधवार 10 अक्टूबर को कलश स्थापना के साथ शुरू हो रहा है। इस वर्ष माँ शेरावाली का आगमन नौका पर हो रहा है, जो मनुष्यों के लिए कार्य सिद्धि दायक होगा। वहीं हाथी पर माता प्रस्थान करेंगी, जो शुभ है।

यानि इस बार माता का आना और जाना दोनों शुभ है। पंडित वेदानंद पांडेय के अनुसार शरद नवरात्र का अपना एक विशिष्ट महत्व है। इसमें मां दुर्गा अपने भक्तों पर विशेष कृपा करती है। इस बार कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त बुधवार को प्रात: 04:57 से दोपहर 12:24 बजे तक है। इसमें कलश स्थापना करना सर्वोत्तम होगा।

श्री पांडेय ने बताया कि प्रत्येक दिन माता की आराधना के दौरान देवी की एक परिक्रमा करे। इसके अलावे माता को उड़हूल, अपराजिता आदि पुष्प पसंद है। वहीं नवरात्रा को लेकर माँ दुर्गा मंदिर गिद्धौर में विशेष तैयारी चल रही है। मेला परिसर में पंडाल का निर्माण भी किया जा रहा है। मंदिर में मां दुर्गा की प्रतिमा भी बनाई जा रही है।

पंडित वेदानंद पांडेय ने बताया कि 16 अक्टूबर को मंदिर में मां दुर्गा विराजेंगी। सुबह 10:06 बजे से मां दुर्गा की प्राण प्रतिष्ठा करना सर्वोत्तम होगा। इसी रात्रि में निशा पूजा होगी। 17 अक्टूबर काे श्रद्धालु महाअष्टमी का व्रत करेंगे। दोपहर 12:50 बजे से नवमी तिथि शुरू हो जाएगी। उन्होंने बताया कि श्रद्धालु नवमी का हवन 18 अक्टूबर की दोपहर 03:19 तक कर लें। 19 अक्टूबर को प्रात: कलश विसर्जन, नवरात्र व्रत का पारण, विजयोत्सव मनाया जाएगा।