Breaking News

हज यात्रियों का पहला जत्था रवाना, दुआईयां मजलिस में सीएम ने की शिरकत





[पटना]    ~अनूप नारायण
13 जुलाई 2018:- मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने हाजियों के पहले जत्थे को मदिना के लिये रवाना करने से पूर्व हज भवन में आयोजित दुआईया मजलिस में शिरकत की। इस दुआईया मजलिस कार्यक्रम में बिहार राज्य हज कमिटी के अध्यक्ष हाजी मोहम्मद इलियास हुसैन उर्फ सोनू बाबू ने मुख्यमंत्री को फूलों का गुलदस्ता, टोपी एवं अंगवस्त्र भेंटकर सम्मानित किया।


दुआईया मजलिस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं इसे अपनी खुशकिस्मती मानता हूँ कि एक बार फिर मुझे यहाँ हाजिर होने का अवसर मिला है। विगत कई सालों से इस मौके पर मै शामिल होता रहा हूँ और मेरी इच्छा है कि आगे भी हर बार इस दुआईया मजलिस में मै शामिल रहूँ। सभी हज यात्रियों को मुबारकवाद देते हुये उन्होंने कहा कि हमारी यही दुआ है कि आपकी दुआ कबूल हो। इस बार 4,798 आजमीन हज यात्रा पर रवाना हो रहे हैं। 40 दिनों तक लोग वहां समर्पण भाव से रहते हैं। उन्होंने कहा कि सचमुच मुझे बहुत खुशी हो रही है कि आप सबको वहां जाने का मौका मिला है। हज पर जाने की इच्छा सबकी होती है किन्तु जाते वही हैं, जिनका बुलावा आता है। वहां जाइयेगा तो आप अपने लिये और अपने परिवार के लिये तो दुआ मांगेंगे ही, मेरी गुजारिश है कि आप अपने राज्य एवं मुल्क के लिये भी दुआ मांगिएगा कि राज्य तरक्की करे। तरक्की तभी होगी जब राज्य में अमन-चैन, प्रेम और सद्भाव का माहौल समाज में कायम रहेगा। बिहार इंसाफ एवं तरक्की के रास्ते पर चल पड़ा है, समाज में भाईचारा, मुहब्बत, अमन-चैन, सद्भाव बना रहेगा तो बिहार की तरक्की को कोई रोक नहीं सकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इन्साफ के साथ तरक्की के रास्ते पर चलकर हर व्यक्ति, हर समुदाय और हर इलाके का विकास करने के प्रति हम प्रतिबद्ध हैं और इस दिशा में काम तेजी से निरंतर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि समाज में भाईचारा, प्रेम और सद्भाव का माहौल कायम रहे तो यह मुल्क और तेजी से तरक्की करेगा। यदि समाज में विवाद रहे तो तरक्की नहीं हो पाता है। दुआईया मजलिस में सम्मिलित लोगों से आह्वान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने धर्म के प्रति प्रतिबद्धता कायम रखते हुए अन्य धर्मों का भी आदर और सम्मान करना हम सबका कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि हम इससे कभी कम्प्रोमाइज नहीं करते। सभी धर्मों का आदर करते हुए सभी लोगों की हम खिदमत करते हैं।


मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार पुरवईया हवा के कारण मानसून प्रभावित होने की आशंका है लेकिन मौसम विज्ञानी बता रहे हैं कि अच्छी बरसात होगी। उन्होंने कहा कि आप सभी आजमीन वहां जाकर यह दुआ करिएगा कि इस बार बिहार को बाढ़ और सुखाड़ का सामना नहीं करना पड़े। लोग सहज ढंग से जीवन-यापन कर सकें। बिहार में इंसाफ के साथ तरक्की हो रहा है, इसका एहसास सभी लोगों को है। अपने संबोधन के अंत में मुख्यमंत्री ने सभी हाजियों को मुबारकबाद दी।


इस अवसर पर खानकाह मुनीमिया मितनघाट के सज्जादानशीं हजरत मौलाना सैयद शमीम मुनअमी, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद, हज कमिटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन एवं सांसद चैधरी महबूब अली कैसर, सांसद श्रीमती कहकशा परवीन, विधान पार्षद श्री सलमान रागीव, विधान पार्षद श्री खालिद अनवर, विधान पार्षद श्री तनवीर अख्तर, पूर्व विधायक श्री इजहार अहमद, बिहार सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष इरशादुल्ल्ला, बिहार सिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष श्री इरशाद अली आजाद, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के प्रधान सचिव श्री आमिर सुबहानी सहित अन्य कई गणमान्य लोग, आजमीन ए हाजी एवं बिहार राज्य हज कमिटी से जुड़े लोग उपस्थित थे।