Breaking News

रतनपुर : गुमशुदा बच्चियों की सकुशल बरामदगी को लेकर सड़क जाम, आश्वासन पर माने ग्रामीण

गिद्धौर-जमुई मुख्यमार्ग जाम करते ग्रामीण                   फोटो- विशाल सिंह, रतनपुर
[gidhaur.com | न्यूज़ डेस्क] :- आक्रोश और न्याय की मांग के बीच रतनपुर वासियों के रविवार की सुबह का नजारा सामान्य था, और देखते ही देखते यह सामान्य नजारे ने जाम का रूप ले लिया। दिन रविवार का था और घड़ी की सुई 10 के आसपास थी, धीरे धीरे सड़क पर आते युवाओं और ग्रामीणों की भीड़ ने रतनपुर चौक पर गिद्धौर-जमुई मुख्य मार्ग को तकरीबन 4 घन्टे तक जाम रखकर यातायात व्यवस्था प्रभावित किया।

कारण था, रतनपुर पंचायत के बाबू टोला निवासी स्व. हरिहर सिंह व अहिल्या देवी की पुत्री नंदनी कुमारी एवं 
प्रिंसा कुमारी के बीते दिन गुरुवार की संध्या से अचानक गायब हो जाने की घटना पर निष्क्रिय पड़े पुलिसिया कार्यवाही।
लापता हुई बच्चियों की तस्वीर
जी हां, इन दो स्कूली बच्चे के बरामदगी को लेकर क्षत्रिय संघ के  कुछ युवाओं के साथ ग्रामीणों ने भी प्रशासन के सिथिल रवैये के खिलाफ अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए गिद्धौर-जमुई मुख्यमार्ग को जाम रखा।
पाठकों को बता दें,  प्राथमिक विद्यालय रतनपुर में पढ़ने वाली  तृतीय वर्ग की छात्रा नंदनी एवं द्वितीय वर्ग की छात्रा प्रिंसा कुमारी गुरुवार से ही लापता है।

अभिवावकों द्वारा दो दिनों तक काफी खोजबीन कर थक जाने के बाद उन्होंने शुक्रवार को गिद्धौर थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई, लेकिन घटना के लगभग 72 घंटे बीत जाने के उपरांत भी  सुस्त पड़े  पुलिसिया करवाई से आक्रोशित ग्रामीणों ने लापता हुई बच्चियों के सकुशल बरामदगी की मांग पर जाम स्थल पर डटे रहे।
ग्रामीणों को समझाते पुलिस प्रसाशन                   फोटो- विशाल सिंह,रतनपुर
गिद्धौर-जमुई मुख्यमार्ग पर ग्रामीणों द्वारा किए गए जाम की जानकारी मिलते ही गिद्धौर थानाध्यक्ष ब्रजेश कुमार, लक्ष्मीपुर थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह, अपने कुछ पुलिस बल के साथ स्पाॅट पर पहुँच कर लोगों को समझा बुझाकर जाम तोड़ने का प्रयास किया गया, लेकिन ग्रामीणों ने उनकी एक न सुनी। अंततः जिले से आए हुए अनुमंडल पुलिस उप अधीक्षक नेसार अहमद ने आक्रोशित ग्रामीणों व परिजनों को समझा बुझाकर शांत करते हुए लापता बच्चियों के सकुशल बरामदगी की बात कही और तब तकरीबन 4 घन्टे के काफी मशक्कत के बाद  जाम तोड़ा गया।
जाम पर डटे हुए आक्रोशित ग्रामीणों को शांत कराने लगभग दो बजे लोजपा के युवा प्रदेश महासचिव राष्ट्रदीप सिंह भी पहुंचे, और ग्रामीणों को लापता बच्चियों के मिल जाने का आश्वासन दिया।

विदित हो  आक्रोशित ग्रामीणों द्वारा किए गए इस सड़क जाम के दरमियां 13 ट्रक, 11 ऑटो और कुछ निजी वाहन जाम में फंसे रहे।
पाठकों को बता दें कि, लापता लड़की की बरामदगी को लेकर पुलिस प्रशासन गुमशुदगी से जुड़े हर पहलुओं पर गंभीरता से जांच करने का दावा तो जरूर करती है पर इस दावे का परिणाम भविष्य के गर्भ में है।

(अभिषेक कुमार झा)
गिद्धौर | 06/05/2018, रविवार
www.gidhaur.com