Breaking News

कुलभूषण की माँ-पत्नी से दुर्व्यवहार पर एबीवीपी ने जलाया पाक पीएम का पुतला-झंडा


Gidhaur.com (न्यूज़ डेस्क) :भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को अगवा कर जासूसी और आतंकी बताकर पाकिस्तान द्वारा गिरफ्तार कर लिए जाने और बीते सप्ताह उनकी माँ एवं पत्नी को उनसे मुलाक़ात करवाने के बहाने घिनौना बर्ताव किये जाने को लेकर शनिवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा गिद्धौर के लॉर्ड मिंटो टावर चौक पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी का पुतला दहन एवं पाकिस्तानी झंडा जलाया गया.

इस विरोध प्रदर्शन की अगुवाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नगर मंत्री विकास यादव कर रहे थे. जुलुस के शक्ल में टावर चौक तक पहुंचे विद्यार्थी परिषद के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान हाय-हाय, शाहिद खाकन अब्बासी मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए पाकिस्तानी झंडे और पाक प्रधानमंत्री के पुतले को आग के हवाले किया. इस दौरान कार्यकर्ताओं ने अपने हाथों में पाकिस्तान व आतंकवाद विरोधी नारों की तख्तियां एवं पर्चे ले रखे थे. पुतला दहन के वक्त बुलंद आवाज में कार्यकर्ताओं ने भारत माता की जय और विद्यार्थी परिषद् जिंदाबाद के नारे भी लगाए.

मौके पर मौजूद प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य निहाल वर्मा ने कहा कि भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को अगवा कर जासूस और आतंकी बनाकर जेल में रख लिया है. पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव की मुलाकात उनकी माता और पत्नी से कराने से पहले उन दोनों के साथ जो घिनौना बर्ताव किया है वो बहुत ही शर्मनाक है. पाकिस्तान ने फिर साबित कर दिया की वो नामर्दों का देश है.

उन्होंने कहा कि सुरक्षा के नाम पर कुलभूषण जाधव की माता और पत्नी के मंगलसूत्र और बिंदी उतरवा कर भारतीय संस्कृति एवं भारतवासियों के इज्जत को उछाला है. भारतीय संस्कृति में मंगलसूत्र और बिंदी सुहाग का प्रतिक है.

छात्र नेता निहाल ने पकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जाधव से मुलाकात कर वापस आने पर उनकी पत्नी के जूते भी पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा वापस नहीं किया गया. इससे साफ़ जाहिर होता है कि कायर पाकिस्तान एक जूते से भी डर गया. जाधव की माता और पत्नी के साथ पाकिस्तान द्वारा किये गए इस हरकत की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कड़ी निंदा करती है.

विरोध प्रदर्शन में रणवीर राव, रुपेश कुमार, दीपक कुमार, सुमन कुमार निशु, शशि राम, राहुल राम, अक्षय कुमार, सुभाष राम, टुनटुन यादव, गोलू कुमार, मनीष गुप्ता, सोनू कुमार, मंटू कुमार, मोनू केशरी, राहुल रावत, कारन राम, आर्यन कुमार, पिंटू यादव, अभिषेक यादव, मोनू राम, चन्दन राम, राहुल राज, सन्नी विश्वकर्मा, राजीव यादव समेत दर्जनों कार्यकर्त्ता उपस्थित थे.

सुशान्त साईं सुन्दरम
गिद्धौर      |      30/12/2017, शनिवार