Breaking News

गिद्धौर : तपती गर्मी में प्यास बुझाने, खूब हो रही शीतल पेय की बिक्री

न्यूज़ डेस्क [गुड्डू वर्णवाल] [Edited by: Aprajita] :

मौसम का मिज़ाज़ धीरे-धीरे बदल रहा है। सूर्यदेव अपनी तपिश से धरतीवासियों की परेशानियां बढ़ा रहे हैं। इंसान के साथ-साथ पशु-पक्षी भी त्राहिमाम कर रहे हैं। तपती गर्मी के साथ ही लू से बचने तथा प्यास बुझाने के लिए शीतल पेय का सेवन शुरू हो गया है।

गिद्धौर बाजार में कहीं लस्सी तो कहीं सत्तू का शरबत तो कहीं गन्ने के रस की बिक्री हो रही है। इन दिनों खीरा, ककड़ी, तरबूज, चुकंदर भी लोगो को खूब लुभा रही है। एक ओर बढ़ती गर्मी से निजात पाने के लिए लोग शीतल शरबत का सहारा ले रहै है तो वहीं शरबत और अन्य पेय पदार्थ बेचने वालों को रोजगार मिल रहा है।

4 से 5 घंटे सत्तू, लस्सी, गन्ने का रस, तरबूज बेचकर लोग 200 से 400 रुपये तक की आमदनी कर रहे हैं। वहीं सत्तू शरबत तथा अन्य पदार्थ के बेचने वाले युवक रोजगार से जुड़कर अच्छी आमदनी कर रहे हैं। स्थायी रूप से गिद्धौर के लॉर्ड मिंटो टावर चौक के समीप कई ठेला एवं गिद्धौर भर में घूम-घूम कर बेचने वाले 5 से 10 ठेला वाले हैं।

जिनके द्वारा पेय पदार्थ 10 से 20 रुपये प्रति गिलास बेचे जा रहे हैं। जहां प्यास बुझाने के लिए लोगों की भीड़ लगी रहती है। इनसे गिद्धौर बाजार में खरीददारी करने आये ग्राहकों के अलावे अन्य दुकानदारों को भी राहत मिलती है।