Breaking News

‘Where Is My Train’ एप्प का 'Google' ने किया अधिग्रहण, रेल यात्रियों के लिए जादुई चिराग है यह App

Sigmoid लैब की टीम ने इस बात की घोषणा की है कि वह Google को ज्वाइन करने वाले हैं. बता दें कि इस App को रिकॉर्ड 10 मिलियन से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है...


Google ने भारत में अपने पहले अधिग्रहण को अंजाम दिया है. बता दें कि गूगल ने बंगलौर आधारित स्टार्टअप Where Is My Train को अपने अंतर्गत कर लिया है. इस एप्प के माध्यम से आपको ट्रेन से जुड़े अपडेट मिलते हैं, इस एप्प में आपको इंटरनेट और GPS की भी जरूरत नहीं होती है.

Sigmoid Labs Team ने क्या कहा?

आपको बता दें कि एक पोस्ट में वेयर इस माय ट्रेन की Sigmoid Labs Team ने ऐसा लिखा है कि वह गूगल को ज्वाइन करने वाले हैं. इस एप्प का निर्माण US आधारित एक तकनीकी-मनोरंजन कंपनी Tivo कारपोरेशन के पांच एग्जीक्यूटिव्स ने किया है. इसमें अहमद निज़ाम मोहिदीन, मिनाक्षी सुन्दरम, बालासुब्रमनियम राजेंद्रन और शशि कुमार वेंकटरमण शामिल हैं. इनके अनुसार, “हमारे मिशन को बढ़ाने के लिए इससे अच्छा प्लेटफार्म नहीं हो सकता था. हम गूगल को ज्वाइन करके काफी खुश हैं.”

Where Is My Train के रिकॉर्ड 10 मिलियन डाउनलोडबता दें कि Where Is My Train एप्प को लगभग 10 मिलियन डाउनलोड अभी तक मिल चुके हैं. इसके द्वारा सेल टावर्स से जानकारी मुहैया कराई जाती है. इस एप्प में न तो इंटरनेट और न ही GPS का इस्तेमाल ट्रेन के रियल टाइम के लिए किया जाता है. यह एप्प यूजर्स को उनके सोर्स और डेस्टिनेशन को एप्प में सेलेक्ट करने के बाद ट्रेन को भी सेलेक्ट करने में मदद करता है. यह सेवा वर्तमान में अंग्रेजी और क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध है.

वेयर इस माय ट्रेन एप्प के माध्यम से लाखों ट्रेन से यात्रा करने वाले यूजर्स के जीवन को सुगम बनाने का है. रेल यात्रा से सम्बंधित सटीक जानकारियां इस एप्प के माध्यम से मिलती हैं. यूजर्स के लिए यह किसी जादुई चिराग से कम नहीं है. जैसा कि हम जानते हैं कि भारत का रेलवे दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. इसकी कुल लम्बाई 67,368 किलोमीटर की है. यह आंकड़े वर्ष 2016-17 के हैं.