Breaking News

झाझा : तीन दिवसीय बाल सृजनशाला कार्यक्रम संपन्न, बालशोषण के विरूद्ध खड़ा होने का किया आह्वान

      {gidhaur.com | दयानन्द साव} :-

वंचित, असहाय और गरीब बच्चों के उत्थान के लिये संचालित तीन तीन दिवसीय "बाल सृजनशाला कार्यक्रम" का समापन एन.जी.ओ. समग्र सेवा एवं चाइल्ड लाइन इंडिया फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में आदर्श बालिका मध्य विद्यालय, झाझा के प्रांगण में समारोहपूर्वक सम्पन्न हुआ।


कार्यक्रम का उद्घाटन चाइल्ड लाइन इंडिया फाउंडेशन,कलकत्ता के क्षेत्रीय पदाधिकारी श्री चन्द्रनाथ सामन्ता ने  फीता काटकर किया। इस अवसर पर उन्होंने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज सबसे ज्यादा बाल अधिकार का हनन हो रहा है। आज के परिवेश में बच्चे अपने आप को सबसे ज्यादा असुरक्षित महसूस करते हैं। असामाजिक तत्वों का शिकार भी आजकल सबसे ज्यादा बच्चे ही हो रहे हैं। इसलिए बच्चे जब कभी और जहाँ कहीं भी मुसीबत में रहें तो 1098 नम्बर पर फोन कर इसकी सूचना दे सकते हैं। यह मुफ्त एवं 24 घंटे निर्बाध रूप से कार्य करने वाला हेल्पलाइन नंबर है जिससे सही समय पर पीड़ित बच्चे को मदद मिल सके।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए समग्र सेवा के श्री मकेश्वर ने कहा कि समग्र सेवा का प्रयास है कि एक भी बच्चे का बाल शोषण न होने पाये चाहे वो समाज के किसी भी तबके से हो। उन्होंने कहा कि बाल अधिकार का कारवाँ चल पड़ा है। इस कारवाँ में बच्चे, शिक्षक,अभिभावक, पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि विशेषकर पुलिस पदाधिकारियों से बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी निभाने का आह्वान किया ताकि हमारा समाज बाल शोषण से मुक्त हो सके।


 बच्चों में सृजनशीलता, कला एवं नेतृत्व कौशल विकसित करने के लिए समवेत, भागलपुर के दिलीप जी ने पुआल से कलात्मक चीजें बनाने के लिए पुआल पेंटिंग करना सिखाया तो वहीं संतोष ने हस्तशिल्प व नन्दलाल एवं कुमुद ने संगीत के गुर सिखाए।कार्यक्रम में कुछ 95 बच्चों ने भाग लिया था। कार्यक्रम को समग्र सेवा के श्री शशिभूषण कुमार ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाध्यापिका सोनी कुमारी, शिक्षक निरंजन जी,सावित्री कुमारी सहित सभी शिक्षक-शिक्षिका उपस्थित रहे।