Breaking News

आस्था और अंधविश्वास की बारीक लकीर का तानाबाना है फिल्म मृदँग

पटना/मनोरंजन (अनूप नारायण) : पटना राज्य स्थित बाबा बैधनाथ की आस्था और प्रसिद्धि पुरे विश्व में है और जल्द ही शुरू हो रहे सावन महीने में इसी आस्था बढ़ जाती जब दूर दूर से कावड़िया जलाभिषेक के लिए बैधनाथ धाम आते है। 
बिहार के युवा फिल्मकार रितेश एस कुमार की फिल्म मृदँग की कहानी के केंद्र में भी आस्था और अंधविश्वास की बारीक लकीर का तानाबाना है। फिल्म के प्रोमोशन के लिए पटना शहर पहुँचे फिल्म के कलाकार मनोज कुमार राव, अभिनेत्री रोज लस्कर और निमार्ता निर्देशक रितेश एस कुमार ने विश्व संवाद केंद्र में आयोजित प्रेस वार्ता में मिडिया को सम्बोधित किया। इस अवसर पर विशेष अतिथि के तौर पर अनामिका शंकर, भाजपा जिला महिला अध्यक्ष, पटना भी उपस्थित थी।
फिल्म की कहानी आधुनिक विचारवाले आदित्य और परम्पराओं में विश्वास रखने वाली सोनम बीच मान्यताओं और विचारों  विभिन्नताओं की कहानी है आधुनिक विचारों वाला आदित्य, मनोज कुमार राव पेशे से एक वकील है पत्नी सोनम, रोज लश्कर आदित्य का हर मोड़ पर साथ रहती है। आदित्य की जिंदगी उसकी वकील की प्रैक्टिसक की तरह ही ठीक ठाक है सिर्फ दो लोग के परिवार में आर्थिक समस्याएं है तो साथ ही शादी के सालो बाद परिवार में बच्चा की किलकारी नहीं गूंजी है हालाँकि बच्चे की कमी से आदित्य और सोनम के रिश्ते में कोई खटास नहीं है। सोनम भी आज की सोच की लड़की है सोनम को लगता है की उसकी शादीशुदा रिश्ता खतरे में है। आधुनिक सोचवाली सोनम बच्चे न होने के दुरूख से  से निराश है साथ लेकिन अंधविश्वासों का सहारा लेने को तैयार भी नहीं है। सोनम हमेशा आदित्य को अपने माँ के अधूरे व्रत संकल्प के बारे बताती रहती है परिवार में अक्सर समस्याओं और संतान से चिंतित सोनम बार बार आदित्य से इस इस अधूरे संकल्प की बात करती है लेकिन आधुनिक सोचवाला आदित्य इसे अन्धविश्वास मानकर हंसी में टाल  देता है।                                                                          
अधूरे संकल्प को पूरा करने के लीए आदित्य  सुल्तानगंज से बाबा बैधनाथ धाम तक की 105 किलोमीटर की यात्रा को निवस्त्र तय करने का निर्णय लेता है। और इसके लिए उसे एक लम्बी कानूनी लड़ाई के बाद न्यायालय से अनुमति भी मिल जातीं है। न्यायलय से मिली अनुमति में कुछ शर्तो के साथ आदित्य को 105 किलोमीटर की यात्रा को विश्वास और साहस  के साथ ही बिना कपड़ों के पूरी करना है आदित्य के खिलाफ समाज के कई लोग है क्या आदित्य इस सफर को तय कर पायेगा सीके लिए आपको मृदँग सिनेमागृहों में जाकर देखनी होगी। डायरेक्टर्स कट के बैनर तले निर्मित मृदँग की मुख्य भूमिका में मनोज कुमार राव, रोज लस्कर के साथ ही आदित्य सिंह, मजहर खान और बिरेंद्र गुप्ता भी महत्वपर्ण किरदारों में नजर आएंगे। फिल्म का लेखन निर्देशन और निर्माण रितेश एस कुमार ने किया है। फिल्म का संगीत चुन्नम पंडित, मनोज नेगी और राम विजय चंद्रन का है। फिल्म के सिनेमैटॉग्रफर नवविन वी मिश्रा है और आयनंद ए राम ने फिल्म का संपादन किया है। फिल्मके गीत चुनमुम पंडित के गीत, ए बी मोहन और नवीन वी मिश्रा ने लिखे है और बैकग्राऊंड म्यूजिक, पृष्ठभूमि स्कोर मनोज नेगी का है और फिल्म के कोरिओग्राफर देवेंद्र चतुवेर्दी और महेश वी गवानकर है। फिल्म 27 जुलाई को बिहार झारखंड सहित कई शहरो में प्रदर्शित होगी ।