Breaking News

जमुई : भारत बंद के दौरान भीम सेना ने विद्यार्थियों से भरे तीन वाहनों को जाम में घंटों रोका


[gidhaur.com | जमुई ] :-  जाम समर्थकों से घंटों आरजू मिन्नत करते सैंकड़ो स्कूली बच्चे और साल भर की पढ़ाई में परीक्षा देने जरूरत...कुछ ऐसी ही कश्मकश में नौनिहालों को बंदी के दौरान देखा गया। लेकिन गुंडई पर उतारू जाम समर्थक युवक किसी की नहीं सुन रहे थे उल्टे बच्चों को हड़का रहे थे।
साढ़े दस बजे से शुरू होने वाले सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा छुटता देख टेंशन में एक छात्र यश की अचानक तबीयत खराब होने लगी, मौके पर मौजूद रिपोर्टर ने उस बच्चे को ले जाकर दुकान से दवाई दिलवाई।
इन सब बातों से इतर सूचना हेतु जिला मुख्यालय से न तो कोई वरीय अधिकारी पहुंचे और न ही स्कूल प्रशासन से प्रिंसिपल साहब ने बच्चों की सूध लेने की कोशिश की।
बच्चों के अभिभावक को जाम में फंसे होने की सूचना पर जब सभी अभिभावक जाम स्थल पर पहुंचने लगे तब खानापूर्ति के लिए कुछ सिपाहियों के साथ एसडीपीओ को भेज दिया गया। एसडीपीओ के आरजू मिन्नत के बाद भी जाम समर्थक स्कूली वाहन को नहीं जाने नहीं दे रहे थे।

बाद रूट बदलकर स्कूली बस सेंटर पर पहुंची, लेकिन देर हो चुकी थी।सेंटर पर मौजूद महिला मजिस्ट्रेट के अनुसार, सीबीएसई से 45 मिनट का एक्सट्रा समय दिया  गया तब जाकर बच्चे आज बोर्ड का अंतिम परीक्षा देने मे सफल हो पाए।
बाद में बंद समर्थकों ने घुम घुमकर बाजार भी जबरदस्ती बंद करवाने का प्रयास किया।
भारत बंद की पूर्व सूचना के बाद भी स्कूल प्रशासन और जिला प्रशासन की लापरवाही के कारण खामियाजा स्कूली बच्चों को भुगतना पड़ा और अधिकारी अपने ऑफिस में बैठे चैंन की बंशी बजाते रहे।
(अर्जुन अरनव)
जमुई02/4/2018, सोमवार
www.gidhaur.com