Breaking News

अपराध विरोधी मोर्चा की मांग, सिपाही व पत्रकार के हत्या की हो निष्पक्ष जांच


Gidhaur.com (पटना) : पत्रकार व कॉन्स्टेबल की हत्या की निष्पक्ष जांच व उनके परिजनों को यथाशीघ्र मुआवजा नहीं मिलने की स्थिति में अखिल भारतीय अपराध विरोधी मोर्चा आमरण अनशन की घोषणा की है।

सिपाही गौरी शंकर की मौत की न्यायिक जांच हो अखिल भारतीय अपराध विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष धवल सिंह राठौर ने बिहार की राजधानी पटना में शनिवार, 31 मार्च को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बेगूसराय में संदेहास्पद स्थिति में मृत पाए गए सिपाही गौरी शंकर सिंह की मौत की उच्च स्तरीय जांच की मांग राज्य सरकार से की।


अखिल भारतीय अपराध विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनवंत सिंह राठौर ने आरा के दो पत्रकारों की निर्मम हत्या तथा वरीय पदाधिकारियों द्वारा सुनियोजित साजिश के तहत मौत के घाट उतार दिए गए बेगूसराय में सिपाही गौरी शंकर सिंह यथा शीघ्र न्याय व उनके परिजनों को उचित मुआवजा नहीं मिलने की स्थिति में आमरण अनशन करने की घोषणा की है। श्री राठौर ने कहा कि एक तरफ विधानसभा में सरकार के मंत्री या करते हैं कि बिहार में सरकार सुरक्षा कानून लागू नहीं होगा वहीं राज्य में पत्रकारों की हत्या की घटनाएं एकाएक मच गई है ऐसे में राज्य में मीडिया निष्पक्ष और निर्भीक होकर कैसे काम करेगी

सिपाही गौरी शंकर की मौत की न्यायिक जांच हो
अखिल भारतीय अपराध विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनवंत सिंह  राठौर ने बिहार की राजधानी पटना में आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बेगूसराय में संदेहास्पद स्थिति में मृत पाए गए सिपाही गौरी शंकर सिंह की मौत की उच्च स्तरीय जांच की मांग राज्य सरकार से की की है है आयोजित प्रेस वार्ता में श्री राठौर ने कहा कि पुलिस की पिटाई से सिपाही गौरी शंकर के परिजनों को राज्य सरकार तो करो रुपए का सरकारी मुआवजा के साथ-साथ उसकी हत्या में शामिल या साजिश रचने वाले बेगूसराय के लिए पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई हो उन्होंने कहा कि जिन पदाधिकारियों के कारण मौत हुई है उन्हें ही इस कांड की जांच की जिम्मेवारी सौंपी गई है। जिससे मृतक के परिजनों को न्याय मिलने की आशा क्षीण हो गई है आयोजित प्रेस वार्ता में अखिल भारतीय अपराध विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रोफेसर रविंद्र कुमार महासचिव अंजनी कुमार शर्मा तथा युवा प्रदेश अध्यक्ष राहुल कुमार मौजूद थे।

अनूप नारायण
पटना     |     11/04/2018, बुधवार