रामलला की प्राण प्रतिष्ठा पर गिद्धौर में अष्टयाम शुरू, भव्य कलश यात्रा ने बनाया इतिहास

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui), 22 जनवरी 2024, सोमवार : श्री राम जन्मभूमि अयोध्या में हो रहे नवनिर्मित मंदिर की स्थापना एवं भगवान श्री राम लला की प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष्य में जन्माष्टमी पूजा समिति, पंचमंदिर सहित गिद्धौर के स्थानीय वासियों द्वारा जन कल्याण की भावना के साथ ऐतिहासिक पंच मंदिर परिसर में 24 घंटे अखंड सीताराम धुन अष्टयाम की शुरुआत कलश यात्रा के साथ सोमवार को शुरू हुई। 
इस कलश यात्रा में 500 से अधिक कन्याओं व महिलाओं ने हिस्सा लिया। यह यात्रा पंचमंदिर से शुरू हुई, जो दुर्गा मंदिर, महावीर मंदिर, मां त्रिपुर सुंदरी मंदिर, बाबा बूढ़ा नाथ मंदिर, काली मंदिर, मां बूढ़ी स्थान मंदिर से पुनः पंचमंदिर पहुंचकर समाप्त हुई। इसमें गिद्धौर के आम और ख़ास, सभी शामिल हुए।
इस दौरान उलाई नदी का जल कलशों में भरा गया। इस रामधुन अष्टयाम में यजमान के रूप में गिद्धौर निवासी सोनू रावत एवं पिंकी कुमारी पूजन प्रक्रिया में अपनी सहभागिता निभा रहे हैं।
कलश यात्रा में गिद्धौर के हजारों सनातनी राम भक्त जन जय श्री राम का गगनभेदी नारा लगाते हुए बढ़ चढ़कर शामिल हुए। यह यात्रा जैसे जैसे आगे बढ़ता गया, वैसे वैसे इसमें लोगों की संख्या बढ़ती गई।
गिद्धौर में कलश यात्रा में इतनी बड़ी संख्या में सनातनियों के शामिल होने का इतिहास भी बना। 24 घंटे अखंड सीता राम धुन अष्टयाम की शुरुआत सोमवार को दोपहर 3 बजे हुई। जिसका समापन मंगलवार को 24 घंटे बाद दोपहर 3 बजे होगा। 
इस अष्टयाम के आयोजन को संपन्न कराने के लिए झारखंड राज्य के देवघर जिले के बाबा बासुकीनाथ धाम से आए पंडित आशीष मिश्रा, मिथिलेश मिश्रा, आशुतोष मिश्रा, अमन मिश्रा, सहयोगी संतोष पांडेय, बालमुकुंद झा, उत्तम झा विधि विधानपूर्वक अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post