Breaking News

6/recent/ticker-posts

जमुई : कृषि विभाग के सचिव ने जिलास्तरीय पदाधिकारियों के साथ की समीक्षात्मक बैठक

जमुई (Jamui), 4 अगस्त 2023 : शुक्रवार को संजय कुमार अग्रवाल, सचिव कृषि विभाग बिहार सरकार पटना - सह - सचिव परिवहन विभाग बिहार पटना एवं प्रभारी सचिव जिला जमुई के द्वारा सुखाड़ के संबंध में विभिन्न जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक की गई।

सर्वप्रथम जिला पदाधिकारी जमुई अवनीश कुमार सिंह भा. प्र. से. के द्वारा जिले के भौगोलिक स्थिति से सचिव महोदय को अवगत कराया गया। तत्पश्चात पावर पॉइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से कृषि से संबंधित विभिन्न योजनाओं के प्रगति प्रतिवेदन एवं जिले में वर्षा पात की स्थिति एवं भूजल स्तर के बारे में विस्तार से बताया गया।

तदोपरांत प्रभारी जिला सचिव के द्वारा जमुई जिले में संचालित जाति आधारित गणना के कार्यों को समीक्षा की गई। जिला पदाधिकारी के द्वारा सचिव महोदय को बताया गया कि जमुई जिले में जाति आधारित गणना का कार्य प्रगति पर है एवं सभी प्रगणकों एवं सुपरवाइजरों को त्रुटिहीन गणना का कार्य पूर्ण कराने हेतु निर्देशित किया गया है। 
प्रतिवेदन की समीक्षा करने के उपरांत सचिव महोदय के द्वारा जाति आधारित गणना के कार्यों पर संतुष्टि व्यक्त की गई एवं उन्होंने सभी चार्ज ऑफिसर सह सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारियों को लगातार कार्य करते हुए गणना कार्य को गुणवत्ता के साथ पूरा करने का निर्देश दिया गया। उन्होंने स्पष्ट लहजे में कहा कि गणना कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाय एवं कोई भी घर गणना करने से छूटे नहीं।

 जाति आधारित गणना की समीक्षा के उपरांत सचिव महोदय के द्वारा सुखाड़ से संबंधित प्रतिवेदन की बिंदुवार समीक्षा की गई एवं संबंधित विषयों में कई महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिए गए।

 सर्वप्रथम जिला सांख्यिकी पदाधिकारी के द्वारा प्रदत प्रतिवेदन की समीक्षा की गई एवं सभी प्रखंडों में वर्षापात की स्थिति पर चर्चा की गई उनके द्वारा जिला सांख्यिकी पदाधिकारी जमुई को निर्देशित किया गया कि पंचायत वार वर्षापात का प्रतिवेदन भी अद्यतन करना सुनिश्चित करें ।

 प्रभारी सचिव के द्वारा जमुई जिले में धान आच्छादन के स्थिति की समीक्षा की गई एवं जमुई जिले के सभी प्रखंडों के प्रखंड कृषि पदाधिकारीयों एवं प्रखंड विकास पदाधिकारियों सहित सभी कृषि से संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मी को अपने क्षेत्र में लगातार भ्रमण करने एवं कृषकों को कृषि कार्यों में मदद करने हेतु निर्देशित किया गया।

 सचिव द्वारा क्रमश: सहायक निदेशक भूमि संरक्षण एवं कृषि अभियंत्रण जमुई, कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई, कार्यपालक अभियंता पीएचइडी जमुई, कार्यपालक अभियंता विद्युत के कार्यों की समीक्षा की गई एवं संबंधित कार्यों में गुणवत्ता पूर्ण सुधार लाने का निर्देश दिया गया ।

उनके द्वारा जिले में अधतन धान आच्छादन की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए वैकल्पिक खेती अपनाने हेतु किसानों को प्रेरित करने का निर्देश जिला कृषि पदाधिकारी एवं प्रखंड कृषि पदाधिकारियों को दिया गया।
सचिव द्वारा सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया कि अपने क्षेत्रों में किसानों से बात करते हुए उन्हें मिलेट एवं मक्का की खेती करने हेतु प्रोत्साहित करने का प्रयास करें। उन्होंने मिलेट के बीज की निर्बाध आपूर्ति किए जाने हेतु जिला कृषि पदाधिकारी जमुई एवं संयुक्त निदेशक कृषि को आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

कृषि सचिव द्वारा बताया गया कि कृषि के क्षेत्र में भी परिवर्तन जरूरी है। अतः सभी पदाधिकारी मनोयोग से धान के अलावे अन्य वैकल्पिक कृषि उपज पर ध्यान रखें एवं किसानों को कृषि विभाग के द्वारा दिए जा रहे लाभों की जानकारी देते हुए उनकी खेती कराने हेतु प्रोत्साहित करने का कार्य करें।

सचिव द्वारा जिला पदाधिकारी जमुई को जिला अंतर्गत नलकूप के सर्वे का कार्य जाति आधारित गणना के साथ कराने का निर्देश दिया गया। जिला उद्यान पदाधिकारी जमुई के कार्यों की समीक्षा के उपरांत सचिव महोदय के द्वारा प्रखंड वार नलकूपों के जांच करने एवं उनका जियो टैग कराने हेतु निर्देशित किया गया ताकि विभिन्न परिस्थितियों में उनका उपयोग किया जा सके।

जमुई जिले में डीजल अनुदान के कार्यों की समीक्षा करते हुए सचिव महोदय के द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी जमुई को और अधिक आवेदन जनरेट करने का निर्देश दिया गया एवं पूर्व में स्वीकृत किए गए आवेदनों की जांच वरीय पदाधिकारियों के माध्यम से कराने हेतु जिला पदाधिकारी महोदय को दिया गया।

तदोपरांत सचिव द्वारा क्रम से किसान पाठशाला, राष्ट्रीय बागवानी मिशन योजना, मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना की समीक्षा की गई तथा वन प्रमंडल पदाधिकारी जमुई को जिले के किसानों को प्रेरित करने का निर्देश दिया गया ताकि वह इस योजना का लाभ उठा सके।

सचिव द्वारा जिला उद्यान पदाधिकारी को विभिन्न फलदार पौधों की खेती को बढ़ावा देने हेतु कम से कम 20 किसानों को प्रेरित करने का निर्देश दिया गया साथ ही जमुई जिले में मधुमक्खी पालन हेतु आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया।
सचिव द्वारा बैठक में अनुपस्थित कार्यपालक अभियंता विद्युत जमुई समीर कुमार के अनुपस्थित रहने पर नाराजगी व्यक्त की गई एवं उनका 1 दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया गया। बैठक के अंतर्गत सचिव महोदय के द्वारा सभी उपस्थित पदाधिकारियों को जिले एवं संबंधित प्रखंडों में बेहतर कार्य करने एवं किसानों की मदद करने का निर्देश दिया गया।

बैठक में पुलिस अधीक्षक जमुई डॉ. शौर्य सुमन, वन प्रमंडल पदाधिकारी जमुई, उप विकास आयुक्त जमुई शशि शेखर चौधरी, अपर समाहर्ता जमुई सत्येंद्र कुमार मिश्रा, संयुक्त निदेशक एग्रीकल्चर जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ