Breaking News

6/recent/ticker-posts

मगही भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मिथलेश यदुवंशी ने रखी मांग

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui), 29 जुलाई 2023 : मगही भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने को लेकर अखिल भारतीय मगही एसोसिएशन के चेयरमैन जमुई जिला के गिद्धौर प्रखंड नयागांव निवासी मिथलेश यदुवंशी और संगठन के बिहार एवं झारखंड प्रदेश के प्रभारी मगही से सबसे बड़े गीतकार अमन अलबेला के नेतृत्व में बिहार सरकार एवं केंद्र सरकार को इसका प्रस्ताव भेजकर इस भाषा को शामिल करने की मांग की गई।
भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने को लेकर नम्बर में होने वाले आंदोलन में अखिल भारतीय मगही एसोसिएशन के चेयरमैन मिथलेश यदुवंशी भी शामिल होंगे और भोजपुरी के साथ-साथ मगही भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने को लेकर सरकार से मांग करेंगे।

इस संदर्भ में मिथलेश यदुवंशी ने बताया कि मगही भाषा भारत के मध्य पूर्व में बोली जाने वाली एक प्रमुख भाषा है। मगही भाषा से ही भोजपुरी, मैथिली, अंगिका, वज्जिका, खोरठा भाषा को निकाला गया है। क्योंकि मगही भाषा दुनिया की सबसे मीठी और मधुर भाषा है। देश-दुनिया में इस मगही भाषा को लगभग 30 मिलियन से अधिक लोग बोलते हैं। मगही भाषा को मान्यता मिल जाने से बिहार एवं झारखंड प्रदेश के मगही भाषी गायक-कलाकारों को काफी फायदा होगा और यहां के होनहार प्रतिभाओं को निखरने का अवसर मिलेगा।
बताते चलें कि अखिल भारतीय मगही एसोसिएशन के चेयरमैन मिथलेश यदुवंशी जल्द ही देश के तमाम मगही भाषी गायक व कलाकारों को एकत्रित कर मजबूती के साथ सरकार से अपनी मांग रखेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ