जमुई : 22 मार्च को प्रभातफेरी से बिहार दिवस का होगा आगाज़, डीएम ने की तैयारियों की समीक्षा

जमुई (Jamui), 20 मार्च : जमुई में बिहार दिवस को  तैयारी अंतिम चरण में है। बिहार की वर्षगांठ के पावन अवसर पर मनाए जाने वाले बिहार दिवस (Bihar Divas) इस बार पूरे जिला में 22 - 24 मार्च अर्थात तीन दिनों तक आयोजित किए जाएंगे। सरकार ने बिहार दिवस समारोह के लिए युवा शक्ति बिहार की प्रगति  नामक थीम का निर्धारण किया है। तीन दिवसीय उत्सव में उसे ही तबज्जो दिया जाना है। जिला प्रशासन राज्य से प्राप्त रूपरेखा के आधार पर तीन दिवसीय उत्सव को उत्साह और उमंग के साथ मनाने के लिए उल्लासित है।

जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह (DM Avneesh Kumar Singh) ने इस संदर्भ में विस्तारपूर्वक बताते हुए कहा कि बिहार दिवस समारोह का आगाज 22 मार्च को सुबह 07 : 00 बजे प्रभातफेरी से होगा। समाहरणालय परिसर से प्रभातफेरी निकलकर अम्बेडकर चौक(Ambedakar Chowk) के रास्ते श्रीकृष्ण सिंह स्टेडियम (Shri Krishna Singh Stadium)पहुंचेगा और यहीं पर इसका समापन किया जाएगा।

डीएम ने आगे कहा कि बिहार दिवस से सम्बंधित मुख्य समारोह का आयोजन 22 मार्च को शिल्पा विवाह भवन (Shilpa Vivah Bhawan) और श्रीकृष्ण सिंह स्टेडियम के मैदान पर किया जाएगा। मुख्य अतिथि इस कार्यक्रम का उद्घाटन अपराह्न 12 : 15 बजे स्थानीय शिल्पा विवाह भवन में करेंगे। नामित स्थान पर ही स्थानीय कलाकार एवं करीब एक दर्जन स्कूली बच्चे मनोरंजक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे और इसे भव्यातिभव्य बनाएंगे।
 इसी कड़ी में यहां व्यंजन मेला भी लगाया जाएगा। उपस्थित जन मेला में मशहूर व्यंजन का स्वाद लेंगे और बिहारी होने पर गर्व करेंगे। इसी दिन श्रीकृष्ण सिंह स्टेडियम के मैदान पर विकास मेला जैसा परिदृश्य झलकेगा। विभिन्न स्टॉल के जरिए जीविका , उद्योग , आईसीडीएस और कृषि विभाग की योजनाओं और उपलब्धियों को प्रदर्शित किया जाएगा।

जिलाधिकारी ने कार्यक्रम के दूसरे दिन यानी 23 मार्च की चर्चा करते हुए कहा कि इस तिथि को स्थानीय अंबेडकर चौक पर पूर्वाह्न 11 : 00 बजे से कला जत्था के नामदार कलाकार नशा मुक्ति अभियान पर कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे और लोगों को इसके दुर्गुणों से वाकिफ कराकर   उन्हें इससे दूर रहने की सलाह देंगे। जिले के चयनित स्थल पर इसी दिन महादलित टोलों में विकास शिविर का भी आयोजन किया जाएगा। सम्बंधित जन विकास शिविर में हिस्सा लेंगे और अपना क्षमतावर्धन करेंगे।
 
डीएम ने 24 मार्च अर्थात बिहार दिवस के अंतिम दिन का जिक्र करते हुए कहा कि इस दिन श्रीकृष्ण सिंह स्टेडियम के मैदान पर अपराह्न 03 : 00 बजे से महिला फुटबॉल मैच(Women Football Match) का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने इसके समापन के साथ ही  तीन दिवसीय बिहार दिवस के संपन्न हो जाने की बात - बताते हुए कहा कि आमजन इसमें बढ़ - चढ़ कर भाग लें और इसे गरिमा प्रदान करें। 
उन्होंने बिहार दिवस उत्सव को भव्यातिभव्य बनाए जाने के लिए हर तय कार्यक्रमों की तैयारी की समीक्षा की और वांछित निर्देश दिए। तीन दिवसीय उत्सव को लेकर चौक - चौराहा , सार्वजनिक स्थल , बस स्टैंड समेत सम्पूर्ण शहर का समुचित साफ - सफाई कराया जाएगा। अत्याधुनिक रोशनी से सरकारी भवन जगमग होंगे।

 समारोह में आमजनों का ज्यादा से ज्यादा भागीदारी सुनिश्चित किए जाने के लिए महत्वपूर्ण स्थलों पर फ्लैक्स लगाए जाएंगे। तीन दिवसीय उत्सव के दरम्यान जमुई की उपलब्धियों से लेकर बिहार के गौरवशाली इतिहास की छटा समारोह में बिखरेगी। जिलाधीश ने बिहार दिवस पर निर्धारित कार्यक्रम की तैयारी पर संतोष जताते हुए कहा कि इसे राज्य में चोटी पर अंकित कराना जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

 सर्वविदित है कि 22 मार्च बिहार के लिए अत्यंत खास है। 1912 को इसी दिन बंगाल से विभाजित होकर बिहार अलग राज्य के रूप में अस्तित्व में आया। राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) ने जब 2005 में पहली दफा सत्ता संभाली तब उन्होंने ही बिहार दिवस मनाए जाने का ऐलान किया। इसका मुख्य मकसद राज्य की विशिष्टताओं की दुनिया भर में ब्रांडिंग और बिहारी होने पर गर्व करने के लिए है।

Post a Comment

Previous Post Next Post