जमुई : 3 दिवसीय बिहार दिवस उत्सव का आगाज 22 मार्च से, डीएम-एसपी समेत कई हस्तियों ने दी बधाई

जमुई (Jamui), 21 मार्च : बिहार अपनी स्थापना का 111वां जन्मोत्सव बुधवार से तीन दिनों तक मनाएगा। जमुई जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह (Jamui DM Avaneesh Kumar Singh) इससे सम्बंधित मुख्‍य समारोह का उद्घाटन करेंगे। इसका विधिवत समापन 24 मार्च को किया जाएगा। ज्ञात हो कि ठीक 111 साल पहले 22 मार्च 1912 को अलग बिहार राज्‍य अस्तित्व में आया था। कालक्रम में इससे अलग होकर उड़ीसा और झारखंड राज्‍य बने। बिहार दिवस (Bihar Diwas) के अवसर पर डीएम , एसपी समेत कई हस्तियों ने शुभकामना दी है।

बिहार दिवस के अवसर पर अपने शुभकामना संदेश में जिलाधिकारी ने कहा है कि राज्‍य का गौरवशाली अतीत है। इसकी समृद्ध सांस्‍कृतिक विरासत भी है। यहां के कर्मठ लोगों ने देश के विकास में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया है। जमुई जिला समेत सम्पूर्ण बिहार निरंतर प्रगति और समृद्धि के पथ पर आगे बढ़ता रहेगा। यहां के नागरिक आपसी एकता , भाईचारा , सामाजिक समरसता और धार्मिक सद्भाव कायम रखेंगे। हम सभी मिलकर बिहार को प्रगति की नई चोटी पर पहुंचाएंगे। पुनः जनता को असंख्य बधाई।

बिहार दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक डॉ. शौर्य सुमन ने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि बिहार का समृद्ध ऐतिहासिक‍ि और सांस्‍कृतिक इतिहास रहा है। यह प्रगति का नया कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। बिहार वीरों , विद्वानों एवं महापुरुषों की भूमि तथा लोकतंत्र की जननी है। यह प्रदेश निरंतर विकास के नित नए मापदंड स्थापित कर देश की प्रगति में अपना योगदान देता रहेगा यही हमारी कामना है।

डीडीसी शशि शेखर चौधरी ने कहा कि राज्‍य लगातार प्रगति करने के साथ विकसित राज्य बनने की ओर अग्रसर है। हम बिहार को और ताकतवर बनाने के लिए उपयुक्त रास्‍ते पर चलते रहेंगे। गौरवशाली अतीत और समृद्ध संस्कृति के लिए विशेष पहचान रखने वाला यह प्रदेश विकास के नित नए आयाम गढ़ता रहे यही हमारी कामना है। उन्होंने भी जिला के साथ राज्यवासियों को बिहार दिवस की शुभकामना दी।

विदुषी महिला एवं नामदार समाजसेविका डॉ. स्मृति पासवान ने कहा कि बिहार लोकतंत्र की जननी , धर्मों की उद्गमस्थली , महापुरुषों की जन्मस्थली , वीरों की कर्मभूमि , ज्ञान , कर्म , संस्कृति और सद्भावना की धरा , प्रकृति का अनमोल उपहार , संभवनाएं अपरंपार ऐसा है मेरा बिहार। बिहार दिवस की हार्दिक शुभकामना।

एडीएम सत्येंद्र कुमार मिश्र , डीटीओ मो . इरफान आलम , एसडीएम अभय कुमार तिवारी , डीसीएलआर मो. शिवगतुल्लाह , सिविल सर्जन डॉ. कुमार महेंद्र प्रताप , जिला अवर निबंधक गोपेश कुमार चौधरी , वरीय उप समाहर्त्ता स्वतंत्र कुमार सुमन , भारती राज , रवि प्रकाश गौतम , सूरज कुमार , कार्यपालक अभियंता समीर कुमार , आलोक कुमार ठाकुर , एसडीपीओ डॉ. राकेश कुमार , डीएसपी मुख्यालय अभिषेक सिंह , पुलिस लाइन डीएसपी आशीष कुमार सिंह , जिला विधिज्ञ संघ के अध्यक्ष अश्विनी कुमार यादव , विद्वान अधिवक्ता विभा कुमारी , डॉ. नंदकिशोर प्रसाद यादव समेत कई शख्सियतों ने जिलावासियों के साथ प्रदेशवासियों को बिहार दिवस की शुभकामना दी है।
सर्वविदित है कि बिहार दिवस प्रत्येक वर्ष 22 मार्च को मनाया जाता है। यह बिहार राज्य के गठन का प्रतीक है। 22 मार्च वही दिन है जब अंग्रेजों ने बंगाल से राज्य को अलग किया। इस दिन यहां सार्वजनिक अवकाश रहता है। कालक्रम में बिहार को विभाजन का दो दंश झेलना पड़ा। इस राज्य से 01 अप्रैल 1936 को ओड़िसा और 15 नवंबर 2000 को झारखंड का विभाजन हुआ और नए राज्य के रूप में अस्तित्व में आया।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल में बिहार दिवस मनाने की शुरूआत उत्सवी माहौल में हुआ। भारत के अलावा यह अमेरिका , इंग्लैंड , कनाडा , ऑस्ट्रेलिया , जर्मनी , बहरीन , कतर , मॉरीशस , टोबैगो , संयुक्त अरब अमीरात आदि देशों में भी मनाया जाता है। अब यह दिवस नही एक उत्सव बन गया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post