जमुई में शांति और सौहार्द से मनाई गई होली, महिलाओं में भी दिखा उत्साह

जमुई (Jamui), 9 मार्च : जमुई में उमंग और उत्साह के बीच रंगों का त्योहार होली शांति एवं सौहार्द के वातावरण में संपन्न हो गया। खासकर महिलाओं में होली को लेकर विशेष उत्साह देखा गया। दिन चढ़ते ही लोग अल्हड़पन के साथ रंग और गुलाल से होली की मस्ती में डूब गए। पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं की टोली मस्ती के साथ होली खेलती दिखी। सड़कों पर महिलाओं का झुंड शराबबंदी के प्रभाव को दर्शा रहा था। सोमवार की देर रात में होलिका दहन के बाद से ही लोग होली की मस्ती में सराबोर होने लगे। बच्चों और युवाओं के साथ बुजुर्ग भी होली का आनंद लेने में पीछे नहीं थे। सुरक्षा के साथ ही शराबियों पर नकेल कसने के लिए प्रशासनिक पदाधिकारी और पुलिस की सक्रियता दिखी।
   सोमवार की देर रात होलिका दहन के साथ ही होली शुरू हो गई। होलिका दहन के दौरान लोगों ने पारंपरिक रीति - रिवाज के साथ होलिका दहन स्थल की परिक्रमा कर माथे पर भस्म लगाई और होलिका की धूल उड़ाते हुए होली खेलनी शुरू कर दी। मठ - मंदिरों में देवी - देवताओं को गुलाल चढ़ाए8 गया।

       बुधवार को सुबह से ही मांस की दुकानों पर भीड़ उमड़ने लगी। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र में कदम - कदम पर मांस की दुकानें सजी थी। अन्य दिनों की अपेक्षा मांस की कीमत में भी बढ़ोतरी की गई। लोग खस्सी का मांस 700 से 800 रुपये किलो की दर से खरीदते देखे गए।

       शहर से लेकर ग्रमाीण क्षेत्रों में डंफ और ढोलक - मंजीरे की धुन पर परंपरागत फाग गीत गूंजता रहा। इस दरम्यान रंग तथा गुलाल की बौछार होती रही। हर वर्ग के लोग इस मंडली में शामिल होकर झूमते नजर आए। महिलाएं भी पीछे नहीं थी। महिलाओं की टोली अलग - अलग अंदाज में होली का आनंद उठाती रही। कहीं - कहीं फिल्मी होली गीत भी गूंजते रहे।

    इस अवसर पर सोशल मीडिया पर भी होली छाया रहा। होली के एक दिन पहले से ही लोग वॉट्सएप के माध्यम से होली की बधाइयां एक - दूसरे को देते रहे। लोग अपने सगे - संबधियों और दोस्तों को सोशल मीडिया के जरिए होली की शुभकामनाएं देते रहे। सांसद , विधायक , जनप्रतिनिधि तथा सामाजिक कार्यकर्ता फोन , व्हाट्सएप अथवा घूम - घूम कर लोगों को बधाई देने में व्यस्त दिखे। जनप्रतिनिधि लोगों को शांति के साथ होली खेलने का संदेश दे रहे थे।

     होली पर शराबबंदी का असर देखा गया। न तो सड़क पर हुड़दंगी नजर आए और न ही नशापान करने वाले व्यक्ति। चौक - चौराहे पर गश्ती वाहन थे और सड़कों पर सन्नाटा। शायद यही कारण था कि महिलाएं बेखौफ होकर होली का जश्न मनाती नजर आई।

     जमुई जिला में होली का पर्व शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न हुआ। लोगों ने एक - दूसरे को रंग और गुलाल लगा प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया। होली को लेकर प्रशासन भी काफी सक्रिय दिखा। संवेदनशील एवं अति संवेदनशील स्थानों पर सशस्त्र बलों के साथ दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई थी। इस वजह से कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है। 
जमुई थानाध्यक्ष राजीव कुमार तिवारी पुलिस बल के साथ गश्ती करते नजर आए। वे हर मामले पर सजग और सचेत दिखे। जमुई शहर समेत आस - पास के क्षेत्रों में भी उनके खौफ का असर देखा गया। हुड़दंगी के साथ अवांछित तत्व कोना - खिड़की में दुबके रहे।

        जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह ने होली पर्व शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न होने पर अधिकारी , कर्मी , पुलिस के जवानों के साथ आम जनता को हृदयतल से बधाई दी है। उन्होंने मुदित भाव से कहा कि प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों ने जिस निष्ठा के साथ होली और शब - ए - बारात त्योहार को अमन - चैन और मिल्लत के माहौल में संपन्न कराया है वह काबिलेतारीफ है।

        पुलिस अधीक्षक डॉ. शौर्य सुमन ने कहा कि होली और शव - ए - बारात को एक साथ शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न कराना प्रशासन के लिए एक चुनौती थी।अधिकारियों और जवानों ने दोनों पर्व को सौहार्दपूर्ण ढंग से संपन्न कराकर सराहनीय कार्य किया है। उन्होंने जनता के भी वांछित सहयोग की तारीफ करते हुए कहा कि भविष्य में भी उनसे सकारात्मक मदद की अपेक्षा है। डॉ. सुमन ने भी पर्व के अनुकूल वातावरण में संपन्न होने पर खुशी का इजहार किया।

Post a Comment

Previous Post Next Post