जमुई : तृतीय स्नातक स्तर संयुक्त पीटी परीक्षा में 1726 अभ्यर्थी रहे अनुपस्थित - gidhaur.com : Gidhaur - गिद्धौर - Gidhaur News - Bihar - Jamui - जमुई - Jamui Samachar - जमुई समाचार

Breaking

A venture of Aryavarta Media

Post Top Ad

Post Top Ad

Thursday, 9 March 2023

जमुई : तृतीय स्नातक स्तर संयुक्त पीटी परीक्षा में 1726 अभ्यर्थी रहे अनुपस्थित

जमुई (Jamui), 9 मार्च : जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह ने विभिन्न परीक्षा केंद्रों का भ्रमण करने के बाद बताया कि जमुई में निर्धारित छः सेंटरों पर बिहार कर्मचारी चयन आयोग द्वारा निर्धारित तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा कदाचार मुक्त एवं शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न हो गया। उल्लेखनीय है कि अपरिहार्य कारणों के चलते इस परीक्षा का दुबारा आयोजन किया गया।

आयोग के गाइडलाइंस के मुताबिक ओपन बुक सिस्टम के तहत होने वाली इस परीक्षा को एक पाली में 12 : 00 बजे दोपहर से अपराह्न 02 : 15 बजे तक आयोजित किया गया। आयोजित किया गया। जमुई जिला में गठित +2 उच्च विद्यालय जमुई बाजार , +2 राज्य सम्पोषित बालिका उच्च विद्यालय जमुई , उच्च विद्यालय खैरा , परियोजना बालिका उच्च विद्यालय खैरा , +2 जनता उच्च विद्यालय सतायन तथा केकेएम कॉलेज जमुई परीक्षा केंद्र पर कुल 1378 अभ्यर्थी शामिल हुए जबकि 1726 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे।

त्रिस्तरीय जांच के बाद परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने दिया गया। कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन के लिए पर्याप्त संख्या में प्रेक्षक , दंडाधिकारी , उड़नदस्ता के साथ पुलिस के जवान तैनात किए गए थे। 200 अभ्यर्थियों पर एक वीक्षक को तैनात किया गया था। इस परीक्षा की सबसे खास बात यह है कि प्रत्येक अभ्यर्थियों के पुतली की जांच की गई और उनका तस्वीर लिया गया।

समाहर्त्ता ने आगे कहा कि आयोग के गाइडलाइंस के मुताबिक प्रारंभिक परीक्षा किताब सहित ली गई। अभ्यर्थियों को अपने साथ तीन पुस्तक अर्थात प्रत्येक खंड के लिए एक ही बुक ले जाने की अनुमति थी। परीक्षा कक्ष में किसी विषय से सम्बंधित गाइड , पुस्तक की फोटो कॉपी , हस्तलिखित कागज , इलेक्ट्रॉनिक उपकरण आदि ले जाना निषेध था। दृष्टि बाधित अभ्यर्थियों को लेखक के साथ 34 मिनट का अतिरिक्त  समय दिया गया। अभ्यर्थियों के जूता पहनकर आने पर पाबंदी थी।
महिला अभ्यर्थियों की यथोचित जांच के लिए महिला अधिकारी , महिला वीक्षक और महिला पुलिस कर्मियों को भी तैनात किया गया था। जिलाधीश ने कहा कि प्रश्न पत्रों को वायरल होने से बचाने के लिए सभी नामित परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगाया गया। कदाचार मुक्त परीक्षा के संचालन के लिए फोटोग्राफी के साथ वीडियोग्राफी भी कराई गई।

जिलाधिकारी स्वयं स्वच्छ परीक्षा के संचालन के लिए सजग और सचेत दिखे। उन्होंने बारी - बारी से अधिकांश केंद्रों का अवलोकन किया। डीएम ने परीक्षा के सफल आयोजन पर संतोष प्रकट करते हुए कहा कि सभी प्रतिनियुक्त अधिकारी , कर्मी और पुलिस के जवान बधाई के पात्र हैं। उन्होंने सबों को हॄदयतल से साधुवाद दिया।

पुलिस अधीक्षक डॉ. शौर्य सुमन ने भी कड़क अंदाज में निर्धारित केंद्रों का निरीक्षण किया और प्रतिनियुक्त अधिकारियों एवं जवानों की तन्मयता पर संतोष जताया। कहा कि तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा के सफल आयोजन के लिए विधि व्यवस्था कायम रखने हेतु सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। परीक्षा केंद्र के बाहर भी पुलिस के जवान जागरूक थे। किसी भी वारदात से निपटने के लिए कारगर इंतजाम किया गया था।

डीसीएलआर मो. शिवगतुल्लाह , जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी आर. के. दीपक , बीडीओ राघवेंद्र त्रिपाठी समेत अधिकांश प्रतिनियुक्त अधिकारियों ने भी परीक्षा को स्वच्छ तरीके से संपन्न कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Post Top Ad