गिद्धौर : अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर मिलेनियम स्टार फाउंडेशन द्वारा युवाओं को किया गया जागरूक

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui), 11 दिसंबर। शनिवार को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर गिद्धौर प्रखंड मुख्यालय स्थित प्रखंड कौशल विकास केंद्र में मानवाधिकार के प्रति युवाओं को जागरूक किया गया। इस मौके पर राष्ट्रीय स्तर पर कार्यरत सामाजिक संस्था मिलेनियम स्टार फाउंडेशन के संस्थापक–अध्यक्ष सुशांत साईं सुंदरम ने बीएसडीसी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे प्रशिक्षुओं को मानवाधिकार का महत्व बताते हुए कहा कि अपने अधिकारों को जानने के लिए जागरूक रहने की आवश्यकता है। इसी उद्देश्य से वर्ष 1950 में संयुक्त राष्ट्र ने 10 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के रूप में घोषित किया। 

सुशांत ने कहा कि मानव होने के नाते लोगों के मौलिक अधिकार हैं। जिसकी जानकारी हर किसी को होनी चाहिए। अधिकारों का संरक्षण करने के साथ प्रत्येक व्यक्ति को मर्यादाओं में काम करना होता है। हरेक व्यक्ति को मूलभूत अधिकार जन्म से, संविधान के मूलभूत अधिकार और राज्य के नीति के अनुसार दिया गया है। इसके मुताबिक ही किसी भी व्यक्ति को व्यवहार करना होता है। मिलेनियम स्टार फाउंडेशन मानवाधिकार संरक्षण के प्रति सतत प्रयत्नशील है और समर्पित रूप से इसके लिए कार्य करती है। युवाओं को मानवाधिकार संरक्षण के प्रति जागरूक रहना आवश्यक है। 

वहीं इस मौके पर प्रखंड कौशल विकास केंद्र के समन्वयक चुनचुन कुमार ने कहा कि मानवाधिकार मतलब किसी भी इंसान को जिंदगी, आजादी, बराबरी और सम्मान का अधिकार से है। मानवाधिकार दिवस मनाने की शुरूआत संयुक्त राष्ट्र ने की।

इस मौके पर बीएसडीसी के मोबिलाइजर अभिलाष कुमार, एलएफ पंकज कुमार, एलएफ जुली कुमारी, कर्पूरी ठाकुर, शिल्पा कुमारी, अनिल, मुस्कान कुमारी सहित अन्य प्रशिक्षु मौजूद रहे।

देखें वीडियो >>



Previous Post Next Post