जमुई : सकरी बराज जोड़ो निर्माण संघर्ष समिति की बैठक आयोजित - gidhaur.com : Gidhaur - गिद्धौर - Gidhaur News - Bihar - Jamui - जमुई - Jamui Samachar - जमुई समाचार

Breaking

A venture of Aryavarta Media

Post Top Ad

Post Top Ad

Thursday, 15 September 2022

जमुई : सकरी बराज जोड़ो निर्माण संघर्ष समिति की बैठक आयोजित

अलीगंज/जमुई (Aliganj/Jamui), 15 सितंबर
● रिपोर्ट : चंद्रशेखर सिंह
◆ संपादन : अपराजिता
अलीगंज प्रखंड के +2 एमआरपुरी ताजपुर हाईस्कूल (MR Puri Tazpur High School) के प्रांगण में चार जिले जमुई, नवादा, नालंदा एवं शेखपुरा के किसानों एवं जनप्रतिनिधियों तथा समाजसेवियो की एक बैठक आयोजित की गई। जिसकी अध्यक्षता किसान भुवनेश्वर मेहता (Bhuvneshwar Mehta) ने किया। जबकि मंच संचालन कामरेड सत्येन्द्र कुमार सिंह (Satyendra Kumar Singh) ने किया। 

सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सकरी बराज निर्माण संघर्ष समिति के संयोजक पूर्व मुखिया सुरेन्द्र पाण्डेय (Surendra Pandet) ने कहा कि जमुई (Jamui), नवादा (Nawada), नालंदा (Nalanda) तथा शेखपुरा (Shekhpura) जिला के किसानों के खेतों की सिंचाई के लिए कोई साधन नहीं होने के कारण भगवान भरोसे खेती करने की विवशता है। जल संचय की कोई समुचित व्यवस्था नहीं है। जिससे किसानों की स्थिति बेहद खराब होते जा रही है। उनकी आर्थिक स्थिति दिन-प्रतिदिन दयनीय होते जा रही है।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2015 में सकरी बराज जोड़ो संघर्ष समिति का गठन कर संघर्ष की शुरुआत किया गया है।

 कामरेड नोखेलाल सिंह ने बताया कि यह योजना किसानों के हित के लिए है। इस नदी से जुड़ने से किसान खुशहाल होंगे।

 किसान धर्मेंद्र कुशवाहा ने कहा कि सकरी बराज - नाटा नदी जुड़ने से किसानों के सारे खेतों में आसानी से पानी पहुंचेगा और उनकी स्थिति सबल होगी। 

पूर्व सरपंच नागेशवर यादव ने बताया कि सकरी बराज नाटा नदी में जूट जाता है तो अलीगंज प्रखंड क्षेत्र के किसानों के खेतों में अमृत के समान फायदा पहुंचेगे।

बैठक में लोगों ने संघर्ष को तेज करने को लेकर विचार विमर्श किया गया।

मौके पर पूर्व मुखिया इन्द्रदेव यादव, गजाधर जी, प्रो आनंद लाल पाठक, नगीना चंद्रवंशी, रविशंकर सिंह, चंद्रशेखर आजाद, सहदेव यादव, मुखिया रामसरूप यादव, ललन सिंह, मो नौशाद कयाम, शिक्षक अशोक कुमार, पूर्व मुखिया हरदेव सिंह, मकेश्वर यादव, उतम कुमार, जनार्दन सिंह, श्रवण सिंह के अलावे नवादा, कौआकोल, पकरीबरावा, अलीगंज, धमौल, शेखपुरा के अलावे नवादा, जमुई, नालंदा, शेखपुरा जिला के विभिन्न प्रखंडों के किसान एवं जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता के अलावे गणमान्य लोग मौजूद थे।

Post Top Ad