एवरेस्ट के बेस कैंप पर चढ़ाई करेगी जमुई की बेटी अनीशा, डीएम ने बढ़ाया हौसला - gidhaur.com : Gidhaur - गिद्धौर - Gidhaur News - Bihar - Jamui - जमुई - Jamui Samachar - जमुई समाचार

Breaking

A venture of Aryavarta Media

Post Top Ad

Post Top Ad

Saturday, 20 August 2022

एवरेस्ट के बेस कैंप पर चढ़ाई करेगी जमुई की बेटी अनीशा, डीएम ने बढ़ाया हौसला



जमुई (Jamui), 20 अगस्त :

पर्वतारोहण में जमुई जिला के साथ-साथ बिहार का नाम ऊंचा करने के क्षेत्र में अब जमुई की बेटी अनीशा दुबे आगे आई हैं। हिंदुस्तान एवरेस्ट फाउंडेशन में उन्हें चयनित किया गया है। जिसके बैनर तले अनीशा माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप पर चढ़ाई करेगी।


बता दें कि इसके पूर्व अनीशा बिना किसी विशेष ट्रेनिंग के हिमाचल प्रदेश के पतालसु पर्वत पर 14 हजार फीट की ऊंचाई पर पहुंचकर तिरंगा फहराया था। अनीशा इस बार माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप पर चढ़ाई करेगी। इसकी ऊंचाई 20 हजार फीट है। अनीशा 20 अगस्त को पर्वतारोहण के लिए जमुई से प्रस्थान करेगी।


पर्वतारोहण की इस टीम में अनीशा के साथ नालंदा जिला के गोपाल कुमार, प्रिया गुप्ता, मध्य प्रदेश के भोपाल से अंजना यादव और छत्तीसगढ़ से दो पर्वतारोही एवरेस्ट के बेस कैंप तक चढ़ाई करेंगे।


अनीशा दुबे जमुई के बिहारी वार्ड संख्या 6 नगर परिषद क्षेत्र की रहने वाली है। वो अभी स्नातक द्वितीय वर्ष की छात्रा हैं। जब अनीशा छोटी थीं, तभी उनके पिता शशिकांत दुबे का देहांत हो गया था। जिसके बाद से उसकी मां कड़ी मेहनत कर उसके हौसले और जुनून को आगे बढ़ा रही है।


पिता नहीं रहे तो अनीशा के परिवार-रिश्तेदार भी उसका साथ छोड़ चुके हैं। उसके परिवार वालों द्वारा भी किसी तरह का सहयोग या फिर आर्थिक मदद नहीं दी जाती है। अनीशा को इस पर्वतारोहण के लिए ₹70 हजार की जरूरत थी, जिसके लिए जमुई के कई चिकित्सक और समाज सेवियों ने आगे आकर आर्थिक योगदान दिया।


इस बारे में जानकारी मिलने पर जमुई डीएम अवनीश कुमार सिंह ने अनीशा के हौसले और जुनून को देखकर उसका मनोबल बढ़ाते हुए पर्वतारोहण में शामिल होने के लिए आर्थिक सहयोग किया।


इस बारे में डीएम श्री सिंह ने कहा कि अनीशा ने नारी सशक्तिकरण का नजीर पेश किया है। अनीशा के माध्यम से पूरे समाज में एक अच्छा संदेश जाएगा। जिला प्रशासन की तरफ से अनीशा को हर संभव मदद की जाएगी।

Post Top Ad