Breaking News

पराक्रम के अप्रतिम शौर्य की प्रतिमूर्ति थीं झांसी की रानी लक्ष्मीबाई : शशिशेखर



अलीगंज/जमुई (Aliganj/Jamui), 19 जून

◆ रिपोर्ट : चंद्रशेखर सिंह

प्रखंड स्थित युवा शक्ति कार्यालय में मातृभूमि की स्वतंत्रता की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाली वीर क्षत्राणी झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की पुण्यतिथि युवा नेता महेश सिंह राणा की अध्यक्षता में मनायी गयी। सबसे पहले लोगों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। 


युवा शक्ति के प्रान्तीय नेता सह अधिवक्ता शशि शेखर सिंह मुन्ना ने कहा देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की बलिदान देने वाली व पराक्रम की अप्रतिम शौर्य की प्रति मूर्ति थी झांसी की रानी लक्ष्मीबाई। जिनकी वीरता की जितनी बखान की जाए, कभी कम नही पड़ेगी।


 युवा नेता महेश सिंह राणा ने कहा कि एक महिला होकर वीरांगना लक्ष्मी बाई ने अंग्रेजों को दाँतो तले चबाने को मजबूर कर दिया था। 


अखिलेश पासवान ने कहा कि वे अपना जीवन व राजभोग को त्याग कर हमें आजादी दिलाने के लिए झांसी की रानी लक्ष्मीबाई ने अपने प्राणों की आहुति दे दी। 


किसान धर्मेद्र कुशवाहा ने कहा कि वीरता की परिचायक थी झांसी की रानी लक्ष्मीबाई जो सदैव याद किये जाएंगे।  


मौके पर डा दिनेश कुमार, किसान धर्मेद्र कुशवाहा, परमेश्वर यादव, सुरेश यादव, चंद्रशेखर आजाद, कैलाश विद, सरयुग बेलदार, आनंदी दास, उपेन्द्र सिंह के अलावे दर्जनो गणमान्य लोग मौजूद थे।