Breaking News

पटना : अंतर्राष्ट्रीय इण्डो-जापान गाॅल ब्लैडर कैंसर पर सेमिनार आयोजित



पटना (Patna), 19 जून

◆ रिपोर्ट : शुभम मिश्र


शनिवार को पटना के महावीर कैंसर संस्थान में भारत एवं जापान के संयुक्त तत्वावधान में " अंतर्राष्ट्रीय गाॅल ब्लैडर कैंसर " पर सेमिनार आयोजित किया गया।इस कार्यक्रम में जापान के ग्रेजुएट स्कूल आॅफ फ्रंटियर साइन्स,यूनिवर्सिटी आॅफ टोकियो के रिसर्चर डा.मइको साकामोटो ने हिस्सा लिया।


वहीं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता डा.अशोक घोष ने की जबकि डा.अरूण कुमार ने मंच संचालन किया।मुख्य अतिथि के रूप में महावीर संस्थान न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि हमलोग रोगी एवं असहाय लोगों की सेवा के लिये हमेशा तत्पर रहेंगे।


वहीं जापान से आये हुए डा.माइको साकामोटो ने बताया कि हमारे देश में ज्यादातर लोग पेट एवं गाॅल ब्लैडर कैंसर से ग्रसित होते हैं जिसका मुख्य कारण पानी में पाये जाने वाले आर्सेनिक एवं रोज़ मर्रा के तौर पर खाने वाले फ़ास्टफूड हैं।


आर्सेनिक पर शोध करने वाले महावीर के डा.अरूण कुमार ने बताया कि गाॅल ब्लैडर कैंसर एवं गाॅल ब्लैडर में स्टोन का मुख्य कारण पानी में आर्सेनिक की अधिक मात्रा में सेवन होता है।गंगा किनारे निवास करने वाले एवं गंदा पानी पीने वाले में भी गाॅल ब्लैडर स्टोन होने की संभावना अधिक होती है।


इस दरम्यान आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि दूर दराज़ के रोगियों के इलाज में सहुलियत के लिए महावीर कैंसर संस्थान की एक-एक शाखा भागलपुर एवं मुजफ्फरपुर में बहुत जल्द खोली जायेगी।


वहीं इस कार्यक्रम में सम्मिलित महावीर कैंसर के निदेशक एवं उपनिदेशक क्रमशः डा.विश्वजीत सन्याल एवं डा.मनीषा सिंह,वरीय चिकित्सक डा.विनीता त्रिवेदी,डा.नवीन कुमार,डा.अखौरी विश्वप्रिया,डा.ऋचा चौहान,डा.वी के शुक्ला,अस्पताल अधीक्षक डा.एल.बी सिंह, जे.एन कैंसर हास्पीटल भोपाल के डा.एन.गणेश, एम्स पटना के डा.अजित सक्सेना, महावीर कैंसर संस्थान पटना के डा.मोहम्मद अली सहित दर्जनों चिकित्सकों ने अपने- अपने विषयों पर अपना विचार स्पष्ट किया।


उक्त अवसर पर चिकित्सकों के अलावे महावीर कैंसर संस्थान पटना के शोधार्थी एवं रेडियेशन विभाग के विद्यार्थी भी मौजूद थे।