Breaking News

झाझा : वट सावित्री व्रत पर सुहागिनों ने की पूजा, कच्चे धागे से की परिक्रमा

 


झाझा/जमुई (Jhajha/Jamui), 1 जून : 

◆ रिपोर्ट : अभिलाष कुमार

[Edited by: Sushant]

पति की दीर्घायु, अखंड सौभाग्य एवं परिवार की सुख-समृद्धि की कामना के साथ झाझा प्रखंड क्षेत्र के धमना स्थित काली मंदिर के निकट सुहागिनों ने वट वृक्ष की पूजा की। इस मौके पर सुबह से ही सैकड़ों की संख्या में सुहागिन महिलाओं ने सोलह श्रृंगार कर वट वृक्ष की पूजा की।


उन्होंने कच्चे धागे से पीपल वृक्ष के चारों ओर परिक्रमा कर सभी महिलाएं अपने पत की लम्बी उम्र, कंचन जीवन, दीर्घायु एवं सुख-समृद्धि की कामना की। 


साथ ही पीपल वृक्ष के नीचे नैवेद्य, फल, फूल आदि अर्पित कर विधिवत रूप से पूजन किया।


शास्त्रों के अनुसर मान्यता है कि बरगद के वृक्ष के तने में भगवान विष्णु हरि, जड़ों में ब्रह्मा व शाखाओं में भगवान शिव का वास है। इस वृक्ष में कई सारी शाखाए नीचें की ओर रहती है जिन्हें देवी सावित्री का रूप माना जाता है। इसलिए मान्यता है की इस वट वृक्ष की पूजा करने से भगवान का आशीर्वाद प्राप्त होता है और सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।