Breaking News

अलीगंज : अनिश्चितकालीन धरना के 9वें दिन भाकपा माले ने फूंका डीईओ का पुतला

अलीगंज/जमुई (Aliganj/Jamui), 22 जून
◆ रिपोर्ट : चंद्रशेखर सिंह
प्रखंड मुख्यालय स्थित बीआरसी कार्यालय के समक्ष भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने बुधवार की दोपहर जमुई जिला शिक्षा पदाधिकारी का पुतला दहन किया और तानाशाही भ्रष्टाचार में सराबोर अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसकी अध्यक्षता भाकपा माले प्रखंड सचिव कामरेड महेन्द्र यादव ने की।

बता दें कि बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ (गोपगुट) के बैनर तले 9 दिनों से 202 शिक्षकों ने 32 महीनों से  वेतन भुगतान नही होने और शिक्षको के साथ दुर्व्यवहार करने वाले भ्रष्ट तानाशाह जिला शिक्षा पदाधिकारी के बर्खास्तगी के सवाल को लेकर बाबू साहब सिंह और एआईसीसीटीयू के जिला प्रभारी बासुदेव राय के नेतृत्व में चल रहे अनिश्चितकालीन धरना का समर्थन करते हुए बुधवार को भाकपा माले ने शिक्षकों को 32 महीने से वेतन भुकतान कराने के सवाल को लेकर अलीगंज प्रखंड बीआरसी कार्यालय के समक्ष भ्रष्ट जिला शिक्षा पदाधिकारी का पुतला दहन किया। 
साथ ही इस मौके पर जुलूस निकाला गया। यह जुलूस पूरे अलीगंज बाजार का भ्रमण करते हुए बीआरसी पहुंचा जहां डीईओ का पुतला फूंका गया।
इस मौके पर भाकपा माले के प्रखंड सचिव कामरेड महेंद्र यादव ने कहा कि भाकपा माले छात्रों के शिक्षा एवं छात्रवृत्ति और शिक्षकों के सम्मान के सवाल को लेकर हमेशा मुखर होकर उनकी आवाज को उठाते रहा है। अब जब जमुई जिले के 202 शिक्षकों को 32 महीनों से इस तानाशाही जिला शिक्षा पदाधिकारी के अड़ियल रवैए के कारण उनका वेतन भुगतान नहीं किया जा रहा है तब इस सवाल को लेकर आज हम लोग प्रखंड शिक्षा कार्यालय के समक्ष वेतन भुगतान के सवाल को लेकर और भ्रष्ट तानाशाही जिला शिक्षा पदाधिकारी का पुतला दहन कर रहे हैं।

वहीं मो. हैदर ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इसपर अगर जिला प्रशासन सचेत नहीं हुआ तो आने वाले दिनों में इसी सवाल को लेकर जिला शिक्षा कार्यालय के समक्ष पुतला दहन के साथ-साथ जिला शिक्षा कार्यालय में तालाबंदी भी की जाएगी। इसलिए सरकार से हमारी मांग है कि ऐसे भ्रष्ट तानाशाही जिला शिक्षा पदाधिकारी को बर्खास्त करते हुए शिक्षकों के वेतन भुगतान की गारंटी सुनिश्चित करें।

इस मौके पर ब्रह्मदेव ठाकुर, पंजाबी सिंह, विनेश्वर मांझी, रामविलास मांझी, सनोज कुमार, गोरेलाल यादव, मनोज यादव, हरेराम कुमार दास के अलावे दर्जनों भाकपा माले कार्यकर्ता व गणमान्य लोग उपस्थित थे।