Breaking News

गिद्धौर : रामनवमी पर हुई रामभक्त हनुमान की पूजा, लोगों ने घरों में लगाए महावीरी झंडे

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui), 12 अप्रैल
➤ रिपोर्ट : सुशांत साईं सुंदरम
➤ तस्वीर : अपराजिता 

रामनवमी के अवसर पर भगवान श्रीराम के साथ-साथ गिद्धौरवासियों ने रामभक्त हनुमान की पूजा की। लोगों ने नियम-निष्ठापूर्वक रामभक्त हनुमान की पूजा की। फल, फूल, नैवेद्य और लड्डू का भोग अर्पित किया और अपने-अपने घरों में महावीरी झंडा लगाया। 
महावीरी ध्वज के बारे में पंडित विवेकानंद पांडेय कहते हैं कि सनातन धर्म में ध्वजा का विशेष महत्व और आस्था है । ध्वज की छत्र छाया में पर्यावरण के शुद्धिकरण से सभी को लाभ मिलता है।

घर पर ध्वजा लगाने से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है। झंडा या ध्वजा को वायव्य कोण यानी उत्तर पश्चिम दिशा में जरूर लगाना चाहिए, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि उत्तर-पश्चिम कोण यानी वायव्य कोण में राहु का निवास होता है । ध्वजा या झंडा लगाने से घर में रहने वाले सदस्यों के रोग, शोक और दोष का नाश होता है । घर में सुख और समृद्धि बढ़ती है। घरों में पीला सिदूर, लाल या केशरिया रंग के कपड़े पर स्वास्तिक या ऊं या हनुमानजी का चित्र लगा हुआ झंडा लगाना चाहिए। इससे सकारात्मक उर्जा का संचार होता है।