खैरा : शांति समिति की हुई बैठक, रामनवमी और मूर्ति विसर्जन में पुलिस की रहेगी नजर - gidhaur.com : Gidhaur - गिद्धौर - Gidhaur News - Bihar - Jamui - जमुई - Jamui Samachar - जमुई समाचार

Breaking

A venture of Aryavarta Media

Post Top Ad

Post Top Ad

Thursday, 7 April 2022

खैरा : शांति समिति की हुई बैठक, रामनवमी और मूर्ति विसर्जन में पुलिस की रहेगी नजर

खैरा/जमुई (Khaira/Jamui), 6 अप्रैल
◆ प्रह्लाद की रिपोर्ट :
आगामी रामनवमी और चैती नवरात्रि के दौरान सदर थाना क्षेत्र में किसी भी असामाजिक तत्वों के द्वारा की जाने वाली हर छोटी बड़ी हरकत पर पुलिस के द्वारा पैनी नजर रखी जाएगी. साथ ही किसी भी तरह की सूचना पर पुलिस के द्वारा त्वरित कार्रवाई की जाएगी. उक्त बातें मंगलवार को स्थानीय थाना में आयोजित शांति समिति की बैठक के दौरान थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान ने कही.

जुलूस निकालने के लिए लाइसेंस लेना अनिवार्य
उन्होंने कहा कि रामनवमी और दुर्गा पूजा में मूर्ति विसर्जन के दौरान भी डीजे के इस्तेमाल पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा तथा पूर्व में डीजे संचालकों के द्वारा बॉन्ड प्रपत्र भरा गया है जिसके आलोक में उन पर कार्रवाई भी की जाएगी. वहीं उन्होंने कहा कि किसी भी इलाके में जुलूस निकालने को लेकर हर हाल में लाइसेंस लेना अनिवार्य होगा. जिस पर जुलूस कमेटी के सदस्य सहित उस में भाग लेने वाले सदस्यों का नाम पता और मोबाइल नंबर लिखा होना अनिवार्य है. वहीं रूट के आधार पर ही रामनवमी का जुलूस निकाला जाएगा.

उन्होंने यह भी कहा कि जुलूस निकालने से पहले हर हाल में पुलिस को इसकी सूचना देनी होगी तथा पूरी सुरक्षा के बीच रामनवमी जुलूस निकाला जाएगा.

इस दौरान अंचलाधिकारी श्रीराम उरांव ने कहा कि पूर्व में होली और अन्य त्योहारों के दौरान खैरा के लोगों ने शांति का परिचय दिया है. इसलिए अपेक्षा यह है कि आगामी रामनवमी और दुर्गा पूजा के त्यौहार के दौरान भी यहां के लोग इसी तरह के शांति का परिचय देंगे. उन्होंने लोगों से शांतिपूर्ण माहौल में रामनवमी और दुर्गा पूजा का त्यौहार मनाने की अपील की. 

भड़काऊ और उत्तेजक नारे लगाने पर होगी कार्रवाई
आगामी रामनवमी और चैती दुर्गा पूजा के त्यौहार थाना क्षेत्र में शांति व्यवस्था बरकरार रखने को लेकर कई निर्देश दिया गया. मौके पर लोगों को जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष श्री पासवान ने कहा कि त्यौहार के दौरान जुलूस निकाले जाने को लेकर लाइसेंस लेना अनिवार्य होगा और उस लाइसेंस पर जुलूस का रूट निर्धारित होना चाहिए.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि जुलूस के दौरान डीजे तथा अधिक शोर मचाने वाले ध्वनि विस्तारक यंत्र पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा. वही इस दौरान उत्तेजक और भड़काऊ तथा किसी खास वर्ग को उत्तेजना प्रदान करने वाले नारों और गानों का इस्तेमाल करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने इसके लिए सभी जनप्रतिनिधियों तथा आम लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की. मौके पर प्रखंड उप प्रमुख रणवीर सिंह, पुलिस अवर निरीक्षक संजीत कुमार, सहायक अवर निरीक्षक राजेश पासवान सहित अन्य लोग मौजूद रहे.

Post Top Ad