Breaking News

गिद्धौर : बालू उठाव से हुआ नदी में गहरा गड्ढा, नहाने गया लड़का डूबा, हुई मौत, आक्रोशित हुए ग्रामीण

गिद्धौर/जमुई (Khaira/Jamui), 13 मार्च :
◆ कंटेंट : सुशांत
◆ इनपुट : विक्की कुमार, अभिलाष कुमार एवं गुड्डू बरनवाल
जमुई जिलान्तर्गत गिद्धौर प्रखंड क्षेत्र व खैरा थाना क्षेत्र के कोल्हुआ गांव के बरनार नदी घाट में बालू घाट के संवेदक द्वारा अत्यधिक गहराई तक बालू उठाव करने के बाद बने गड्ढे में डूबने से एक 16 वर्षीय लड़के की मौत हो गई। जिसके बाद ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया।

ग्रामीणों का आक्रोश इतना था कि सूचना पाकर मौके पर जब पुलिस के जवान घटनास्थल पर पहुंचे तो उनपर पथराव किया गया। ग्रामीणों ने मौके से पुलिस को खदेड़ दिया। ग्रामीण इस बात को लेकर आक्रोशित थे कि संवेदक ने बालू घाट से बालू उठाने के लिए मिले निर्देश से अधिक गहराई से बालू उठाव किया जिस वजह से गहरा गड्ढा बन गया, जिसमें दुर्घटनावश डूब जाने से बच्चे की मौत हो गई। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि फोन पर सूचना देने के बावजूद पुलिस घटनास्थल पर देर से पहुंची।
प्राप्त जानकारी के अनुसार नदी में स्नान के दौरान राहुल कुमार नामक 16 वर्षीय लड़का पानी से भरे गड्ढे में उतर गया, जिसमें डूबने से उसकी मौत हो गई। लड़के की मौत के बाद परिजनों व ग्रामीणों का आक्रोश चरम पर पहुंच गया, जिसके बाद उन्होंने जमुई-गिद्धौर सड़क मार्ग पर शव रखकर जाम कर दिया। विरोध प्रदर्शन की सूचना मिलते पुलिस घटनास्थल पर पहुंची जहां ग्रामीणों ने पथराव शुरू कर दिया।

ग्रामीणों का आक्रोश देख पुलिस वापस लौट गई।  पथराव में पुलिस के एक वाहन का शीशा टूट गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने बालू घाट पर कई कागजात भी जला दिए।
ग्रामीणों ने बताया कि बालू घाट पर संवेदक द्वारा नियम से अधिक गहराई तक खुदाई कर बालू उठा लिए जाने से गहरा गड्ढा बन गया है। जिसमें दुर्घटनावश डूब जाने से लड़के की मौत हो गई। इस घटना के बाद ग्रामीणों ने मृतक के परिजनों को मुआवजा दिलवाने और बालू खनन बंद करवाने का आग्रह किया है।
ग्रामीणों के आक्रोश और सड़क जाम को देखते हुए गिद्धौर प्रखंड के बीडीओ अजय कुमार एवं अंचलाधिकारी रीता कुमारी के अलावा कई थाना की पुलिस मौके पर पहुंची. अधिकारियों द्वारा आक्रोशित ग्रामीणों को समझाकर मुआवजा राशि दिलवाने के आश्वासन दिए जाने के बाद मामला शांत हुआ।

बता दें कि मृतक राहुल कुमार के पिता गिरीश राम कोल्हुआ चौक पर नाश्ते की दुकान चलाते हैं। वो अपने माता-पिता का सबसे छोटा संतान था। राहुल के मौत के बाद उसके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।