Breaking News

जदयू प्रदेश प्रवक्ता प्रगति मेहता बोले - जातीय जनगणना पर साफ है जदयू का स्टैंड, इस मुद्दे पर राजनीति न करे राजद

पटना (Patna), 11 जनवरी। बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड (Janata Dal United) के प्रदेश प्रवक्ता प्रगति मेहता (Pragati Mehta) ने राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal) को जातीय जनगणना जैसे मुद्दे पर राजनीति न करने की सलाह दी है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) सिर्फ खबरों में बने रहने के लिए बयानबाजी न करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) का इस मुद्दे पर स्टैंड साफ है। सर्वदलीय बैठक कर इस मुद्दे पर सरकार जल्द ही राज्यहित में फैसला लेगी। जदयू (Bihar) शुरू से ही जातीय जनगणना करने के पक्ष में है। 

बिहार की चिंता होती तो खास अवसरों पर गायब न होते नेता प्रतिपक्ष
जदयू प्रवक्ता (JDU Spokesperson) ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष (Leader of Opposition) को बिहार और बिहारियों की इतनी चिंता होती तो हर सुख और दुख में वह जनता के साथ रहते। लेकिन वह तो अक्सर खास अवसरों पर गायब ही हो जाते हैं। लेकिन खबरों में बने रहने के लिए कुछ मुद्दे जरूर उठाने की कोशिश करते हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी को बिहार और बिहारियों की हर घड़ी चिंता रहती है और वह हर समय उनकी बेहतरी के लिए ही काम करते रहते हैं।

जातीय जनगणना से हर तबके के उत्थान में मिलेगी मदद
जदयू प्रवक्ता प्रगति मेहता ने कहा कि जहां तक जातीय जनगणना का मुद्दा है तो इस पर भी उनका स्टैंड साफ है। जातीय जनगणना के हम सभी पक्षधर हैं। किस जाति की कितनी आबादी है यह तस्वीर साफ होनी चाहिए। इससे हर तबके के उत्थान के लिए काम करने में सरकार को मदद मिलेगी। जातीय जनगणना कराए जाने के प्रस्ताव को बिहार विधानमंडल ने सर्वसम्मति से पारित किया है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में  राज्य के सर्वदलीय नेताओं का एक शिष्टमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से भी मिल चुका है। राष्ट्रीय स्तर पर जातीय जनगणना नही हुआ तो बिहार सभी दलों से राय मशविरा कर अपने स्तर से इस दिशा में कदम उठाएगा।