जमुई : जिला परिषद के इतिहास में नया अध्याय, निर्विरोध अध्यक्ष बनीं दुलारी व उपाध्यक्ष बने राकेश

जमुई (Jamui), 29 दिसंबर : जिले में पहले चरण के तहत हुए पंचायत चुनाव में सिकंदरा से निर्विरोध जिला परिषद सदस्य बनीं दुलारी देवी ने जमुई जिले के पंचायती राज के इतिहास में नया अध्याय लिख दिया है। वे जिला परिषद अध्यक्ष पद पर भी निर्विरोध निर्वाचित हुई हैं। जिले के सभी 20 जिला परिषद सदस्यों ने उन्हें अपना समर्थन दिया।

उपाध्यक्ष पद पर भी चकाई से जिला परिषद सदस्य राकेश पासवान निर्विरोध चुने गए। मंगलवार को समाहरणालय सभागार में जिला परिषद चुनाव को लेकर बैठक की गई। जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह ने पहले सभी जिला परिषद सदस्यों को पद एवं गोपनियता की शपथ दिलाई। 

इसके बाद जिला परिषद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद को लेकर नामांकन की प्रक्रिया प्रारंभ हुई। जिला परिषद अध्यक्ष पद के लिए सिकंदरा से निर्वाचित जिप सदस्य दुलारी देवी ने अपना नामांकन दाखिल किया। निर्धारित समय तक किसी अन्य सदस्य द्वारा नामांकन दाखिल नहीं किया।

इधर, उपाध्यक्ष पद को लेकर भी सदस्यों में एकजुटता दिखी। इस पद पर चकाई के भाग-2 के जिला परिषद सदस्य राकेश कुमार पासवान ने नामांकन दाखिल किया। किसी अन्य सदस्यों द्वारा नामांकन दाखिल नहीं करने के बाद इन्हें भी निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया।

जमुई जिला परिषद अध्यक्ष दुलारी देवी और उपाध्यक्ष राकेश पासवान को निर्विरोध निर्वाचित होने पर चकाई की पूर्व विधायक सावित्री देवी, सिकंदरा के पूर्व विधायक बंटी चौधरी व अन्य ने उन्हें शुभकामनाएं दीं।

जिला परिषद के निर्वाचित सभी सदस्यों की एकजुटता ने पंचायती राज व्यवस्था के जिला परिषद में एक मिसाल कायम किया। अध्यक्ष, व उपाध्यक्ष के निर्विरोध निर्वाचन में सिकंदरा के गुड्डू यादव की भूमिका किंग मेकर की रही।

पहले सिकंदरा से अपनी पत्नी को निर्विरोध जिप सदस्य बनाने के बाद अध्यक्ष पद तक निर्विरोध निर्वाचन में उनकी भूमिका अहम रही। चुनाव के दौरान ही अपने समर्थक सदस्यों को जीत दिलाने में गुड्डू यादव ने अपनी भूमिका निभाई और अध्यक्ष पद तक के अपनी पत्नी का सफर आसान किया।

Post a Comment

Previous Post Next Post