Breaking News

पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह की बहु और मंत्री सुमित कुमार सिंह की पत्नी सपना सिंह का चुनावी अभियान तेज



जमुई (Jamui), 1 दिसंबर : बिहार (Bihar) की राजनीति के भीष्म पितामह समझे जाने वाले पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह (Former Agriculture Minister Narendra Singh) की पुत्रवधू सपना सिंह का अंग प्रदेश में विधान परिषद पंचायत स्तरीय सीट को लेकर चुनाव प्रचार अभियान जोर पकड़ने लगा है. जगह-जगह नव निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों का सम्मान समारोह आयोजित किया जा रहा है. सपना सिंह इस राजनीतिक परिवार की पहली महिला हैं जिनकी राजनीति में इंट्री हो रही है.


अंग प्रदेश के कद्दावर नेता पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह की पुत्रवधू सपना सिंह के विधान परिषद प्रत्याशी बनने की खबर के बाद पूरे अंग प्रदेश की राजनीति गरमा गई है. सपना सिंह पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह के पुत्र सुमित कुमार सिंह (Sumit Kumar Singh) की पत्नी है. सुमित कुमार सिंह इस बार बिहार विधानसभा में एकलौते निर्दलीय विधायक हैं, जो जमुई (Jamui) के चकाई (Chakai) से चुनाव जीतकर आए हैं तथा बिहार सरकार में विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री है. नरेंद्र सिंह के पिता श्री कृष्ण बाबू भी बिहार सरकार (Bihar Government) में मंत्री रहे उनके पुत्र अजय प्रताप (Ajey Pratap) व स्व. अभय प्रताप भी विधायक रहे. खुद नरेंद्र सिंह लालू सरकार में स्वास्थ्य मंत्री व नीतीश सरकार में कृषि मंत्री रहे.


जमुई, मुंगेर (Munger), लखीसराय (Lakhisarai), शेखपुरा के पंचायत प्रतिनिधियों के द्वारा चुने जाने वाले एमएलसी (MLC) के लिए इस बार सपना सिंह का चुनाव लड़ना फाइनल हो चुका है. सपना सिंह निर्दलीय लड़ेंगी या एनडीए (NDA) प्रत्याशी के तौर पर यह साफ नहीं है, पर विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि सपना सिंह चुनाव लड़ेंगी. इसके लिए नरेंद्र सिंह तथा पति सुमित सिंह से हरी झंडी मिल चुकी है और इसकी तैयारी भी बकायदा तारापुर (Tarapur) उपचुनाव के बहाने शुरू हो चुका है नरेंद्र सिंह फिलहाल किसान आंदोलन को मजबूत करने में लगे हैं.



गत वर्ष विधानसभा चुनाव के ठीक पहले जदयू (JDU) ने सुमित कुमार सिंह का टिकट काटकर संजय प्रसाद को चकाई (Chakai) से पार्टी का सिंबल दिया था. संजय प्रसाद (Sanjay Prasad) फिलहाल पंचायत स्तरीय विधान परिषद सीट के निवर्तमान पार्षद हैं. पिछली बार यह राजद (RJD) के टिकट पर जीते थे लेकिन विधानसभा चुनाव के ठीक पहले पाला बदलकर जदयू में शामिल हो गए. इस बार उनके चुनाव लड़ने पर संशय है. दूसरी तरफ मंत्री सुमित सिंह की पत्नी सपना सिंह की चुनावी तैयारी पंचायत वार प्रारंभ हो गया है.


विदित हो कि इस चुनाव में वार्ड सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, मुखिया तथा जिला परिषद के सदस्य वोट डालते हैं. पंचायत चुनाव की प्रक्रिया समाप्त होते ही विधान परिषद के सीटों की अधिसूचना जारी होगी संभावना है कि जनवरी में चुनाव होगा. जमुई, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा के पंचायत प्रतिनिधि इस सीट के लिए वोट डालेंगे. इस पूरे इलाके पर नरेंद्र सिंह के परिवार का अच्छा खासा प्रभाव है. मंत्री सुमित कुमार सिंह इन दिनों इन क्षेत्रों में कुछ ज्यादा ही सक्रिय नजर आ रहे हैं. खबर है कि सपना सिंह के उम्मीदवारी को लेकर पिछले कई महीने से तैयारी भी चल रही थी.