Breaking News

8 जनवरी को जमुई में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का घेराव करने के लिए शिक्षकों ने बनाई त्रिस्तरीय रणनीति

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui), 26 दिसंबर :  शिक्षकों ने बकाया वेतन भुगतान की मांग को लेकर 8 जनवरी को जमुई में समाज सुधार यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री का घेराव करने को लेकर त्रिस्तरीय रणनीति तैयार कर ली है। रविवार को बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक संघ जमुई के नेता राजीव कुमार वर्णवाल के अध्यक्षता में स्थानीय संघ भवन में बकाया वेतन के लिए दर-दर की ठोकर खाने पर विवश हो चुके शिक्षकों की एक विशेष बैठक आयोजित की गई।

बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए राजीव कुमार वर्णवाल ने बताया कि सर्वसम्मति से जमुई में मुख्यमंत्री के घेराव को लेकर त्रिस्तरीय रणनीति तैयार कर ली गई है। उन्होंने कहा की जिले में कार्यरत शिक्षकों के बकाया वेतन का भुगतान करना स्थानीय शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों का काम है, लेकिन अभी पल्ला झाड़ रहे है।

जमुई सदर प्रखंड अध्यक्ष उत्तम कुमार सिंह ने कहा कि जिले भर में कार्यरत अप्रशिक्षित शिक्षकों का बिना किसी आदेश के ही एक साल से वेतन भुगतान पर रोक लगा दी गई है। जिससे शिक्षकों के समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो चुकी है। 

उन्होंने कहा कि जिले के हजारों शिक्षक शोषण और भ्रष्टाचार के तरफ मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराने के लिए जमुई में उनका घेराव करेंगें और ज्ञापन देंगें।
(नीचे प्रचार के आगे भी खबर है)
इस अवसर पर दर्जनों शिक्षक ने कहा कि जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, स्थापना जमुई अगर चाहें तो दो से चार दिन में आवंटन भी आ जाएगा और मुख्यमंत्री के जमुई आगमन से पहले बकाया भुगतान का भुगतान भी हो जायेगा। लेकिन अधिकारियों की मंशा ठीक नहीं है ऐसे प्रतीत होता है की अधिकारी जानबूझकर बकाया वेतन नहीं देकर मुख्यमंत्री के अतिमहत्वपूर्ण समाज सुधार यात्रा कार्यक्रम में हंगामा करवाना चाहते है।

शिक्षकों ने कहा कि अब 8 जनवरी 2022 को घेराव के दौरान मुख्यमंत्री के समक्ष ही सभी का पोल खोला जायेगा। विदित हो कि 24 दिसंबर को डीईओ-डीपीओ के साथ शिक्षक प्रतिनिधियों की वार्ता पूर्णतः विफल होने के बाद से शिक्षकों का आक्रोश भड़क गया है।

बैठक में जिला कोषाध्यक्ष राजीव वर्णवाल, गिद्धौर प्रखंड महासचिव ब्रजेश सिंह, कोषाध्यक्ष प्रदीप रजक, उपाध्यक्ष शिवशंकर पांडेय, सचिव साबिर अंसारी, जमुई अध्यक्ष उत्तम सिंह, झाझा सचिव रौशन कुमार, कुमार परवेज, राजेश केशरी, मुकेश केशरी, विश्वजीत मेहता, नीरज कुमार, विक्की कुमार, मुकेश दांगी, अजय विश्वकर्मा, रिषु मेहता, रमन सिंह, डॉली गुड़िया, ज्योति कुमारी, राकेश रावत, मुरारी कुमार सहित दर्जनों शिक्षक उपस्थित थे।