खैरा : भौड़ गांव में बह रही भक्ति की बयार, दूर दराज से पहुंच रहे श्रद्धालु - gidhaur.com : Gidhaur - गिद्धौर - Gidhaur News - Bihar - Jamui - जमुई - Jamui Samachar - जमुई समाचार

Breaking

A venture of Aryavarta Media

Post Top Ad

Post Top Ad

Friday, 29 October 2021

खैरा : भौड़ गांव में बह रही भक्ति की बयार, दूर दराज से पहुंच रहे श्रद्धालु

 


Khaira/खैरा (प्रहलाद कुमार) :- प्रखंड क्षेत्र के भौंड गांव में आयोजित हो रहे नौ कुंडीय गायत्री महायज्ञ में भक्ति की बयार बह रही है. प्रतिदिन प्रवचन कर्ता साध्वी साधना बघेल के द्वारा भागवत कथा का वाचन किया जा रहा है। जिसे सुनने बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। बीते बुधवार देर शाम भी श्री भागवत कथा का आयोजन किया गया। इस दौरान प्रवचन कर्ता सुश्री बघेल ने पारिवारिक जीवन को लेकर कथा वाचन किया। इस दौरान उन्होंने राजा प्रतीक की कहानी सुनाई और लोगों को जीवन की कई सारी सीख भी दी। उन्होंने कहा कि सुखी रहने के लिए धन से अधिक स्वास्थ्य की आवश्यकता होती है, जिस इंसान का स्वास्थ्य सही होता है, उसके परिवार जन सही होते हैं, पत्नी अच्छी होती है वह इंसान हमेशा सुखी रहता है। बुढ़ापे में अपने बच्चों पर निर्भर रह कर लोग तरह तरह की परेशानियां झेलते हैं। इससे बेहतर है कि अपने बच्चों की शादी करने के बाद उनका गृहस्थ जीवन अलग कर देना चाहिए, वरना आजकल के बच्चे बुढ़ापे में मां-बाप को घर से भी निकाल देते हैं । श्री बघेल ने कहा कि भगवान हमें कई सारे मौके देते हैं , पर हम इंसान उन मौकों को समझ नहीं पाते हैं। वह हमें अलग-अलग माध्यम से सूचना देते रहते हैं कि इस धरती पर हमारा समय अब समाप्त हो रहा है, जिसमें सबसे पहले इंसान के बाल पकते हैं, फिर उनकी आंखों की रोशनी चली जाती है, फिर उनके दांत झड़ते हैं फिर उनका पूरा शरीर ही नश्वर हो जाता है, पर हम इंसान उन चीजों को ना समझ कर अपने मोहमाया में लिप्त रहते हैं। उन्होंने कहा कि भागवत कथा का श्रवण करना भी भगवान के पूजन के समान है । हर इंसान को भगवान के प्रति समर्पित होना चाहिए।  

गौरतलब है कि उक्त गांव में सात दिवसीय भागवत कथा का आयोजन किया गया है। जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। महिला पुरुष सहित बूढ़े और बच्चे भी यज्ञ स्थल पर पहुंचकर कथा का लाभ ले रहे हैं।


Edited by : A. K. Jha

#Khaira, #Event, #GidhaurDotCom

Post Top Ad