Breaking News

मौरा : मुखिया प्रत्याशी अजीत कुमार झा की मजबूत है जीत की दावेदारी, मिल रहा जनसमर्थन

मौरा/गिद्धौर (Maura/Gidhaur) : बिहार में पंचायती चुनाव का शोर है। जमुई जिला के गिद्धौर प्रखंड में तीसरे चरण में मतदान होना है। प्रखंड के मौरा पंचायत से मुखिया पद के लिए चुनावी मैदान में ताल ठोंक रहे युवा प्रत्याशी अजीत कुमार झा की दावेदारी मजबूत नजर आ रही है। वे गांव में ही पिछले पांच वर्षों से सीएससी वीएलई के रूप में काम कर रहे हैं। युवाओं के बीच उन्हें लोकप्रियता हासिल है। वहीं गांव की महिलाओं और बुजुर्गों के बीच भी वे अपनी गहरी पैठ रखते हैं। युवा होने के नाते उन्हें जनसमर्थन मिल रहा है।

पंचायत से मुखिया प्रत्याशी अजीत कुमार झा ने गिद्धौर डॉट कॉम से बात करते हुए बताया कि समाजसेवा मेरा शौक है और समाज के लोगों को सेवा देते-देते मुझे लगा कि अगर मैं अपने पंचायत का मुखिया बनता हूं तो अनेक ऐसी योजनाएं हैं जो राज्य सरकार और केंद्र सरकार के द्वारा संचालित है, हमारी ग्राम पंचायत में पहुंच नहीं पा रही है, उन योजनाओं को ग्रामीणों तक मैं आसानी से पहुंचा सकता हूं। इसलिए मैं अपने पंचायत से मुखिया प्रत्याशी के रुप में इस बार चुनावी मैदान में हूँ।
यह पूछे जाने पर कि दावेदारी कितनी मजबूत है? अजित कहते हैं, मुझे विश्वास है हमारे जनता पर और मुझे लगता है कि जिस तरह से मैं लोगों के बीच जमीन से जुड़कर काम कर रहा हूं, मौरा की जनता मुझे प्रेम और स्नेह देगी और मुझे मुखिया के रूप में पसंद करेगी।

मुखिया बनते हैं तो अपनी पंचायत के लिए क्या काम करेंगे? यह पूछे जाने पर अजीत कुमार झा का कहना है कि हमारे ग्राम पंचायत में सबसे अधिक कमी शिक्षा की है। मैं शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार की तरफ़ बहुत ज्यादा ध्यान देने का प्रयास करूंगा। सरकार की जितनी भी योजनाएं कृषि, पशुपालन, स्वास्थ्य, शिक्षा में आती है, मैं उसको शत-प्रतिशत बिना किसी भेदभाव के ग्रामीणों तक पहुंचाने का कार्य करूंगा।
गिद्धौर डॉट कॉम की ओर से अजीत से यह सवाल किया गया कि आप युवा हैं तो युवाओं को लेकर क्या विज़न है? इसपर अजीत ने कहा कि मेरा सर्वप्रथम प्रमुखता इस बात को लेकर है कि हमारे ग्राम पंचायत के जितने भी युवा हैं वो शिक्षित हो, स्वरोजगार उनको मिले और देश विदेश में अपना नाम कमाएं। जितने भी हमारे बुजुर्ग माताएं और बहनें यहां हमारे ग्राम पंचायत में निवास करते हैं उनको शुद्ध भोजन उपलब्ध हो, शुद्ध जल उपलब्ध हो, स्वास्थ्य के लिए उनको कहीं दूर ना जाना पड़े। साथ ही विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा उपलब्ध हो, छात्राओं को कौशल संबंधन के लिए अच्छा और उपयुक्त माहौल मिले। इन सब चीजों पर मैं विशेष ध्यान केंद्रित करूंगा।

बताते चलें कि गिद्धौर प्रखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत राज मौरा से मुखिया पद के प्रत्याशी अजीत कुमार झा का ईवीएम के क्रम संख्या एक में चुनाव चिन्ह मोतियों की माला छाप है।
[इनपुट : संजीवन कुमार सिंह]