Breaking News

गिद्धौर : त्योहारों को लेकर महंगे हुए फलों के दाम, जानिए तीज में क्या रहा रेट

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui) | सुशांत : पति की लम्बी उम्र और स्वस्थ जीवन की मनोकामना के लिए मनाया जाने वाला हरितालिका तीज व्रत उल्लासित माहौल में बीते गुरुवार से शुरू होकर शुक्रवार को संपन्न हुआ. महिलाओं ने २४ घंटे से भी अधिक समय तक निर्जला व्रत रख कर अपने सुहाग के दीर्घायु की कामना की.

गिद्धौर में हरितालिका तीज व्रत महिलाओं ने नियम पूर्वक मनाया. इस दौरान बाजार में भी भीड़ देखने को मिली. पूजा सामग्री सहित फलों की खूब बिक्री हुई. लगातार बढ़ती महंगाई के बीच त्योहारों में फलों के दाम अपेक्षा से कहीं ज्यादा बढ़े होते हैं.

गिद्धौर बाजार में फल विक्रेता बमबम केशरी ने बताया कि हरितालिका तीज को लेकर फल की मांग अधिक रही. इस व्रत में फलों का ही प्रसाद भगवान शिव और माता पार्वती को चढ़ाया जाता है. पांच तरह के फलों का भोग लगाया जाता है. पूजनोपरांत प्रसाद स्वरुप लोग इसे ही ग्रहण करते हैं. मंडी से ही कीमत अधिक होने के कारण फलों का दाम महंगा रहा. इसके अलावा मंडी से फल बाजार तक लाने के लागत और रख-रखाव आदि को जोड़ देने के बाद फलों का दाम अधिक हो जाता है. इसका असर बाजार पर भी देखने को मिल रहा है.

हरितालिका तीज व्रत को लेकर गिद्धौर में फलों की कीमत निम्नांकित रही :

सेव - रुपया 50 से 80 प्रति किलोग्राम
बिदाना - रुपया 100 प्रति किलोग्राम
मौसमी - रूपया 60 प्रति किलोग्राम
संतरा - रूपया 100 प्रति किलोग्राम
पपीता - रूपया 50 प्रति किलोग्राम
केला (चिनिया/पीला छाल) - रुपया 40 प्रति दर्जन
केला (सिंगापुरी/हरा छाल) - रुपया 30 प्रति दर्जन
नासपाती - रुपया 80 प्रति किलोग्राम
डाभ - रुपया 50 प्रति पीस
नारियल गोला - रुपया 25 प्रति पीस