Breaking News

गिद्धौर : महुली में करोडों की लागत से बना था छात्रावास, पर नहीं हो रहा छात्रों का वास

Gidhaur/गिद्धौर (अभिषेक कुमार झा) :-  

बात  है वर्ष 22 /07/ 2015 की जब झाझा विधानसभा (Jhajha VidhanSabha) अंतर्गत गिद्धौर प्रखंड के कोल्हुआ (Kolhua) पंचायत में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (ITI) का शिलान्यास बिहार सरकार के तत्कालीन भवन निर्माण मंत्री दामोदर रावत (Damodar Rawat) द्वारा किया गया था। बेहतर आधारभूत संरचना के दावे किए गए थे, पर विडम्बना देखिये, बाउंड्रीवॉल निर्माण के लिए करोड़ो के भवन में एक छात्रावास (Hostel) का ताला अभी तक 'अनलॉक' नहीं हो सका है।

महुली स्थित I.T.I.  भवन व छात्रावास  ◆ gidhaur.com

दअरसल, तकनीकी व व्यवसायिक शिक्षा में क्षेत्रीय बच्चों को दक्ष बनाने के लिए झाझा विधायक के अथक प्रयास से गिद्धौर (Gidhaur) के महुली में राजकीय ITI की स्थापना कराई गई थी, लेकिन उद्घाटन के 5 वर्ष बीत जाने के बाद भी करोड़ों की लागत से बना राजकीय आईटीआई के छात्रावास में आज तक छात्रों का वास नहीं हो सका है। लिहाज़ा , जिले (Jamui District) के विभिन्न सुदूर ग्रामीण क्षेत्र से शहर में अध्ययन के लिए आने वाले आईटीआई छात्र- छात्राओं के लिए आवास की सुविधा अब भी एक बड़ी समस्या बनी हुई है। जंगल व दुर्गम पहाड़ों को पार कर आईटीआई केन्द्र में अपने शैक्षणिक कार्य व कोर्स के लिए पहुंचने वाले छात्रों ने बेपरवाह प्रबन्धन की दुहाई देते हुए बताया कि, छात्रावास के निर्माण होने से नामांकित छात्रों में राहत की उम्मीद जगी लेकिन सुस्त प्रबन्धन के कारण विगत 3 वर्षों से बन्द पड़ा छात्रावास भवन महुली गांव की शोभा बढ़ा रहा है। 

प्राचार्य बोले- बच्चों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता ]

अर्धनिर्मित बॉउन्ड्रीवॉल कारण बच्चे असुरक्षित हैं, जिस कारण छात्रावास बंद रखा गया है। निर्माण कार्य 40-50 फ़ीसदी हो गया है। शेष निर्माण कार्य के लिए तीन लोगों की कमिटी बनाकर में फ़ाइल विभाग को भेजा गया है, जिसमें एप्रूवल मिलते ही छात्रावास शुरू कर दिया जाएगा। 

               ~ दीपक कुमार, प्रिंसिपल। 

  वहीं, संस्थान से जुड़े सूत्रों की मानें तो, शासन द्वारा छात्रावास में बिजली और पानी की सुविधा तो उपलब्ध कराई गई है, पर बेड व निवास के लिए आवश्यक सामग्रियों की पूर्ति करने में संस्थान अब भी हाफ़ रहा है । प्रिंसिपल दीपक कुमार के ऊपर तीन संस्थान का प्राभार है । प्रशासनिक, राजनीतिक व विभागीय प्रयासों के बावजूद बाउंड्रीवाल निर्माण की फ़ाइल सरकारी मेज़ पर धूल फांक रही है।

श्रम संसाधन विभाग का पत्र। ◆ gidhaur.com

- [ जमुई MLA श्रेयसी सिंह से मिले थे छात्र, मंत्री तक पहुंची बात ] -

छात्रावास की समस्या को लेकर छात्रों ने जमुई विधायक श्रेयसी सिंह (Jamui MLA Shreyasi Singh) से मुलाकात कर छात्रावास को चालू करने की मांग रखी थी। छात्रों के इस मांग पर त्वरित संज्ञान लेते हुए दिनांक 06-08-2021 को पत्रांक JM/06/21/0005 के माध्यम से श्रम संसाधन विभाग के मंत्री जीवेश कुमार ( Minister Jivesh Kumar) से इस संदर्भ में पत्राचार किया। श्रेयसी के इस पत्र के बाद श्रम संसाधन विभाग (Labour Resource Department) के मंत्री जीवेश कुमार ने 10 अगस्त को इसके लिए श्रम संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव को पत्र प्रेषित कर इसकी जानकारी पत्रांक 1366 के माध्यम से पुनः 27 अगस्त को प्रेषित की । वहीं, विभाग के मंत्री तक बात पहुंचने से छात्रावास की आस ताक रहे छात्रों में उम्मीद की किरण फूटी है।