Breaking News

गिद्धौर : सेवा गांव में निकला कैंडल मार्च, ग्रामीण चिकित्सक मनोज पण्डित के हत्यारे को फांसी देने की उठी मांग

 【 Gidhaur.com | अभिषेक कुमार झा 】:-

हाथों में जलती मोमबत्तियां, आंखों में आक्रोश और जुबां पर न्याय की मांग...ये नाज़ारा था सेवा गांव का जब बुधवार की देर संध्या ग्रामीण चिकित्सक मनोज पंडित को श्रद्धाजलि एवं उसके हत्यारे को सजा दिलाने की मांग पर जनसैलाब उमड़ा ।


दरअसल, बीते सोमवार को सेवा पंडित टोला निवासी नुनूलाल पंडित के ज्येष्ठ पुत्र की लाठी-रड से पीटकर गांव के ही आधा दर्जन दबंगों द्वारा बेरहमी से हत्याकर दिए जाने के बाद बुधवार की देर सन्ध्या सेवा पंडित टोला से लेकर बिचली सेवा तक आयोजित इस कैंडल मार्च में सेवा, सरसा, कुड़ीला, राजनबांध समेत आसपास के गांवों से तकरीब 500 की संख्या में ग्रामीणों ने भाग लिया। कैंडिल मार्च में शामिल भाजपा मंडल अध्यक्ष, बुद्धिजीवी वर्ग से किशोरी पंडित, संजीव पंडित, राजेश पंडित, ब्रह्मदेव पण्डित, कमलदेव पंडित आदि ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि कानून को हाथ मे लेकर एक चिकित्सक पर बर्बरतापूर्ण लाठियां बरसाकर हत्याकर देना तालिबानी रौब है।


बुजुर्गों व महिलाओं ने हत्यारे को फांसी देने के नारे लगाए, वहीं, ग्रामीणों ने आक्रोशित स्वर में कहा कि दिवंगत ग्रामीण चिकित्सक मनोज पण्डित की हत्या से पूरा गांव मर्माहत है। वे कोरोना काल में भी गरीब शोषित वर्ग के सेवक रहे। अपने चिकित्सकीय हुनर से उन्होंने एक स्वस्थ्य समाज के निर्माण में अपनी भूमिका निभाई। ऐसे व्यक्ति की निर्ममतापूर्वक हत्या कर देने वाले को यदि कड़ी सजा नहीं होती है तो आंदोलन को कड़ा रूख दिया जाएगा।