Breaking News

गिद्धौर : सब्जियों पर मौसम की मार, महंगाई ने बिगाड़ा रसोई का स्वाद

गिद्धौर/जमुई (Gidhaur/Jamui) | सुशांत साईं सुन्दरम : मानसून की बरसात से जहाँ लोगों को गर्मी से राहत मिली है, वहीं किचन के बजट पर इसका बिलकुल उल्टा असर नजर आ रहा है. बारिश की वजह से सब्जियों के दामों में अचानक से बढ़ोतरी हो गई है. इन दिनों गिद्धौर बाजार में सब्जियों की कीमत लोगों की जेब पर कैंची चला रही है.

सब्जियों की बढ़ती कीमत से महिलाएं परेशान हैं. प्याज के दाम सुनकर ही आँखों से पानी आ रहा है. चार-पांच सदस्यों वाले परिवार में सप्ताह भर में सब्जियों का खर्च ही 250-300 रुपये तक हो जा रहा है. इसके बावजूद भी पर्याप्त मात्रा में सब्जियां रसोई तक नहीं पहुँच पा रही हैं.
10-30 रुपये प्रति किलो तक बढ़े दाम
सब्जी विक्रेता राज कुमार, नन्दलाल कुमार, मुकेश कुमार, गिरजा देवी ने gidhaur.com से बात करते हुए बताया कि पिछले दिनों से लगातार सब्जियों के दाम में उछाल आया है. सब्जियों के दाम 10-30 रुपये प्रति किलो तक बढ़ गए हैं. ऐसे में गिद्धौरवासियों ने सब्जी की खरीद में कटौती शुरू कर दी है.

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से महंगी हुई सब्जियां
सब्जी विक्रेता नन्दलाल ने बताया कि पेट्रोल व डीजल की कीमतें बढ़ने के कारण भाड़ा महंगा हुआ है. इसलिए सब्जियों के दाम भी बढ़े हैं. साथ ही कई जगहों पर पहले तेज़ बारिश और फिर खिली धूप की वजह से सब्जियां ख़राब हुई हैं. इन वजहों से भी सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी हुई है.

सावन ने लगाई मांस-मछली पर ब्रेक, सब्जियों के दाम इससे भी बढ़े
वहीं सिमरिया गाँव से प्रतिदिन गिद्धौर बाजार में सब्जी बेचने आने वाली गिरजा देवी ने बताया कि सावन महीने में मांस-मछली पर ब्रेक लग गया है. महीने भर लोग मांसाहार से परहेज करते हैं. सावन महीने में सब्जियों का ही उपभोग ज्यादा कर रहे हैं. यह भी एक वजह है जिससे सब्जियों के दाम बढ़े हैं. 
(कामिनी सिन्हा) 
गृहणी कामिनी सिन्हा का कहना है कि सब्जियों का सीजन होने के बावजूद भी कीमत में कमी नहीं हो रही है. ऐसे में सब्जी की खरीददारी में कटौती करनी पड़ रही है. रसोई गैस के भी दाम बढ़े हैं. सरकार को महंगाई रोकने की कवायद करनी चाहिए.
(अनुराधा सिंह)
गृहणी अनुराधा सिंह का कहना है कि सब्जियों के दाम बढ़ने से रसोई पर असर पड़ा है. पहले के मुकाबले सब्जियां आधा ही खरीद रहे हैं. इतनी महंगी सब्जी लेने के बाद भी सड़ा-गला निकल ही जाता है.

गिद्धौर बाजार में 2 अगस्त को सब्जियों के दाम : 
देसी परवल - ₹50 प्रति किलोग्राम
बंगला परवल - ₹30 प्रति किलोग्राम
झींगा - ₹30 प्रति किलोग्राम
खखसा (बड़ा) - ₹25 प्रति किलोग्राम
खखसी (छोटा) - ₹150 प्रति किलोग्राम
शिमला मिर्च - ₹100 प्रति किलोग्राम
करेला - ₹30 प्रति किलोग्राम
भाटा बैंगन - ₹40 प्रति किलोग्राम
बैंगन - ₹30 प्रति किलोग्राम
सत्पुतिया - ₹40 प्रति किलोग्राम
टमाटर - ₹40 प्रति किलोग्राम
कद्दू - ₹20 प्रति पीस
बंधा गोभी - ₹40 प्रति किलोग्राम
चुकंदर - ₹40 प्रति किलोग्राम
खीरा - ₹15 प्रति किलोग्राम
नींबू - ₹5 का जोड़ा
मिर्च - ₹50 प्रति किलोग्राम
अदरक - ₹50 प्रति किलोग्राम
धनिया पत्ता - ₹150 प्रति किलोग्राम
प्याज - ₹30 प्रति किलोग्राम
आलू - ₹15 प्रति किलोग्राम