Breaking News

जमुई : फोल्डर पेंडिंग मामले में शिक्षकों ने सौंपा ज्ञापन, त्रुटियों को सुधारने की रखी मांग

 


【न्यूज़ डेस्क | अभिषेक कुमार झा】 :- शिक्षा विभाग की उदासीनता से क्षुब्ध होकर अपने हक और अधिकार के लिए दर्जनों टीईटी पास शिक्षकों ने सख्त कदम इख्तियार कर लिया है। फोल्डर जांच से वंचित सोनो प्रखण्ड के 40 शिक्षकों ने अपना मोर्चा खोलते हुए सोमवार को जिला स्थित शिक्षा भवन के समक्ष एकत्रित होकर आलाअधिकारी को ज्ञापन सौंपा ।

विभागीय कार्य शैली पर चिंता जाहिर करते हुए शिक्षकों ने एक स्वर में बताया है कि सोनो प्रखंड के शिक्षकों की निगरानी सूची में त्रुटियों को सुधार ना किए जाने से दर्जनों शिक्षक उपेक्षित हैं। उन्होंने बताया कि सोनो प्रखंड के तकरीबन 40 शिक्षकों की सूची जो विभागीय वेब पोर्टल पर उपलब्ध कराई गई, उन 40 शिक्षकों की सूची में कुछ के नाम, पति /पिता का नाम एवं विद्यालय के नाम में त्रुटियां पाई गई हैं। इन त्रुटियों को लेकर शिक्षकों में असंतोष व्याप्त है। शिक्षकों ने बताया कि सेवा काल के दौरान भविष्य में इन त्रुटियों का प्रतिकूल असर पड़ सकता है। उन्होंने बताया कि निगरानी को जो फोल्डर विभाग द्वारा उपलब्ध कराया गया है उन शिक्षक-शिक्षिकाओं के नाम के फोल्डर सम्बन्धित प्रखण्ड के शिक्षा कार्यालय में जमा कर दिया गया था। शिक्षकों ने बताया कि एनआईसी पोर्टल पर फोल्डर अपलोड होना था पर आज तक फोल्डर अपलोड करने में विभाग बैकफूट पर है।


- - - - - - - - - - - - - - - -


राज्य सरकार के वेबसाइट पर स्वतः हो रहा है शिक्षकों का डेटा अंकित


- - - - - -- - - -


विभाग के इस अन्याय पर अपने मांग को लेकर शिक्षा भवन में मौजूद शिक्षक विकास कुमार ने बताया कि राज्य सरकार के वेबसाइट पर जो शिक्षकों को जहां अपना फोल्डर अपलोड करना था वहां उनका डेटा स्वतः अंकित हो जा रहा है। उन्होने बताया कि शिक्षकों के शैक्षणिक व प्रशैक्षणिक प्रमाण पत्र के विवरण और विभाग द्वारा अपलोड किए गए डाटा में भिन्नता है, जिसपर सोनो प्रखण्ड के दर्जनों शिक्षक-शिक्षिकाओं ने आपत्ति जताते हुए शिक्षा विभाग के अधिकारियों के समक्ष अपनी समस्या रखने पहुंचे हैं। 

विभागीय अधिकारियों के नाम प्रेषित ज्ञापन में शिक्षकों ने टंकण त्रुटियों को यथाशीघ्र सुधार करने की मांग रखी है।

ज्ञापन में विकास कमार, अमित कुमार, अमरेंद्र कुमार, अरुण बर्णवाल, राजकुमार, मो. शहनवाज खान, संदीप कुमार, विक्रमादित्य चौहान, मो. शमशेर रज़ा, शैलेन्द्र कुमार रावत, सुबोध कुमार समेत 40 शिक्षकों के हस्ताक्षर अंकित हैं।




#Jamui, #Education, #GidhaurDotCom